बेन स्टोक्स के कप्तान बनते ही पलटे अंग्रेजों के दिन, पहली सीरीज में ही बना दिया वर्ल्ड रिकॉर्ड

खराब दौर से गुजर रही इंग्लैंड (England) की टेस्ट क्रिकेट टीम के दिन पलट गए हैं। बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के कप्तानी संभालने के साथ ही इंग्लैंड ने दो साल बाद टेस्ट सीरीज में जीत हासिल की है। इंग्लिश टीम की यह जीत कोई साधारण जीत नहीं है। इस श्रृंखला में उन्होंने न्यूज़ीलैंड (New Zealand) को इस अंदाज़ में हराया कि वर्ल्ड रिकॉर्ड ही बना दिया है।

सोमवार को हेडिंग्ले (Headingley) में न्यूज़ीलैंड को 7 विकेट से हराने के साथ ही इंग्लैंड ने 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में कीवियों का 3-0 से सूपड़ा साफ किया। इन तीनों मुकाबलों की खास बात यह रही कि इंग्लैंड ने सभी मैचों में लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल की। टेस्ट क्रिकेट के 145 साल लम्बे इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ, जब किसी टीम ने एक ही सीरीज में तीन बार 250 से ज्यादा का लक्ष्य हासिल किया हो।

पहले मैच में 277 रन का पीछा-

लॉर्ड्स में खेले गए सीरीज के पहले मैच में इंग्लैंड को अपनी दूसरी पारी में जीत के लिए 277 रन चाहिए थे, जिसे इंग्लिश टीम ने जो रुट (115) के शतक और बेन स्टोक्स (54) के अर्धशतक के दम पर 78.5 ओवर में हासिल कर लिया था। इंग्लैंड ने यह मुकाबला 5 विकेट से जीता।

दूसरे मैच में 299 रन का पीछा –

नॉटिंघम में खेले गए सीरीज के दूसरे मैच में इंग्लैंड को जीत के लिए आखिरी दिन 299 रन बनाने थे। नामुमकिन लग रही इस जीत को जॉनी बेयरेस्टो की धमाकेदार पारी ने मुमकिन कर दिखाया। उनकी 92 गेंदों में 136 रनों की धुआंधार पारी की मदद से इंग्लैंड ने इस लक्ष्य को महज़ 50 ओवर में ही हासिल कर लिया।

तीसरे मैच में 296 रन का पीछा-

इस मैच में इंग्लैंड ने टीम वर्क दिखाते हुए जीत हासिल की। उन्हें आखिरी पारी में जीत के लिए 296 रन चाहिए थे, जिसे उन्होंने रुट (86), बेयरस्टो (77) और ओली पॉप (82) की शानदार पारियों के दम पर हासिल कर लिया। इस मुकाबले को जीत कर इंग्लिश टीम ने 3-0 से सीरीज तो अपने नाम की ही साथ ही वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बना डाला।

Q. जो रुट ने कितने टेस्ट मैचों में इंग्लैंड की कप्तानी की है?

A. 64

Leave a comment

Cancel reply