इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) विश्व की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी घरेलू टी20 लीग है. आईपीएल की शुरुआत साल 2008 में हुई थी, जिसके बाद कई देशों ने भारत के इस टूर्नामेंट की देख दिखाई में खुद की घरेलू लीग्स शुरू कीं. उनमें ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग (BBL), पाकिस्तान की पाकिस्तान सुपर लीग (PSL), वेस्टइंडीज की कैरिबियन प्रीमियर लीग (CPL) आदि शामिल हैं, लेकिन आईपीएल क्रिकेटर्स की पहली पसंद है, क्योंकि इसकी नीलामी में पैसा बारिश की तरह बरसता है. इतना ही नहीं कई खिलाड़ी रातों रात अमीर भी बने हैं. यहां तक कि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी भविष्य के सितारे भी बनते देखे गए हैं.

वहीं, दूसरी तरफ श्रीलंकाई टीम के पूर्व दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने आईपीएल को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि इस लीग में खेलना अपने देश के लिए खेलने से भी ज्यादा मुश्किल है. मुरलीधरन ने यह बात रविचंद्रन अश्विन के शो DRS विद एश में कही. मालूम हो कि मुरलीधरन चेन्नई सुपर किंग्स का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं.

मुरलीधरन ने बताया क्यों मुश्किल है IPL में खेलना

पूर्व दिग्गज ऑफ स्पिनर ने कहा, ''अपने देश के लिए खेलते समय आप जानते हैं कि आप परफॉर्म करेंगे. आपको इस बात का विश्वास होता है कि आप मैच में खेलेंग. आपको गेंदबाजी करने का अवसर मिलेगा, लेकिन आईपीएल में इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि आपने कितना अच्छा किया है. आपको टीम संयोजन के लिए बाहर बैठना पड़ता है. यह आईपीएल का हिस्सा है और इसे आपको स्वीकार करना होता है.'' अब मुरलीधरन के इस बयान से उनके देश के फैंस को तगड़ा झटका लग सकता है. हो सकता है कि क्रिकेट जगत को 440 वोल्ट का झटका लग जाए.

Leave a comment