Ravi Shastri
रवि शास्त्री ने बताया, अगर वे IPL मेगा नीलामी में शामिल होते तो उन्हें कितने रूपय मिल जाते?

भारतीय टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि इस टूर्नामेंट की उपेक्षा करने से भारतीय क्रिकेट ‘रीढ़हीन’ हो जाएगा। शास्त्री का यह बयान तब आया है, जब कोरोना महामारी के कारण इस साल रणजी ट्रॉफी को स्थगित कर दिया गया है। हालांकि, पिछले साल भी कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते इसे रद्द कर दिया गया था।

59 साल के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी ने शुक्रवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट साझा करते हुए लिखा, “रणजी ट्रॉफी भारतीय क्रिकेट की रीढ़ है। इसकी उपेक्षा करने पर आप रीढ़हीन हो जाएंगे।” बता दें कि 13 जनवरी से रणजी ट्रॉफी खेली जानी थी, लेकिन कोरोना महामारी की तीसरी लहर को देखते हुए इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।

मशहूर क्रिकेट कमेंटेटर हर्षा भोगले (Harsha Bhogle) ने भी रणजी ट्रॉफी के नए सत्र पर अपनी राय दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “रणजी ट्रॉफी को आगे बढ़ाने की कोशिश करने के लिए उत्कृष्ट पहल। प्रथम श्रेणी क्रिकेटर्स और भारतीय क्रिकेट के लिए एक बड़े संदर्भ में, दोनों के लिए इसकी बहुत आवश्यकता थी।”

इससे पहले बीसीसीआई (BCCI) सचिव जय शाह (Jay Shah) ने टूर्नामेंट के महत्व के बारे में बयान दिया था। द हिंदू ने जय शाह का हवाला से कहा, “रणजी ट्रॉफी हमारी सबसे प्रतिष्ठित घरेलू प्रतियोगिता है, जो हर साल भारतीय क्रिकेट को एक उल्लेखनीय प्रतिभा पूल प्रदान करती रही है। यह बिल्कुल महत्वपूर्ण है कि हम इस प्रमुख आयोजन के हितों की रक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएं।”

Leave a comment

Cancel reply