Sourav Ganguly - Virat Kohli
भारत के टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के विवाद की खबरें खूब वायरल हो रही हैं।

भारत के टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के बीच विवाद की खबरें खूब वायरल हो रही हैं। कई दिग्गज खिलाड़ी इस मामले पर अपनी राय प्रकट कर चुके हैं। इसी सूची में पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदन लाल ने भी बयान दिया है। उनका मानना है कि विराट और गांगुली के बीच कोई विवाद नहीं बल्कि विचारों का मामला है।

विराट कोहली को भारत की वनडे टीम की कप्तानी से हटा दिया गया था और इस पर भारतीय क्रिकेटर कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने एएनआई से बातचीत करते हुए कहा था कि उन्होंने वास्तव में कोहली से कप्तानी को लेकर बात की थी और साथ ही उन्हें टी20 टीम की कप्तानी नहीं छोड़ने से भी आग्रह किया था। वहीं, बुधवार को विराट ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बीसीसीआई अध्यक्ष के इस बयान का खंडन किया।

वहीं, मदन लाल (Madan Lal) ने एएनआई को दिए इंटरव्यू में विराट और गांगुली के बीच इस विवाद पर कहा, “मुझे लगता है कि इस स्थिति को बेहतर तरीके से संभाला जाना चाहिए था, क्योंकि यह कोई विवाद नहीं बल्कि विचार का विषय है। मुझे नहीं पता कि सौरव ने विराट से क्या कहा था, इसलिए मैं उस पर कोई बयान नहीं देना चाहता, लेकिन मुझे लगता है कि कि अध्यक्ष होने के नाते सौरव को बाहर आकर स्पष्टीकरण देना चाहिए और यह पूरे मुद्दे का अंत होगा।”

दाएं हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज ने आगे कहा, “हमें अभी दक्षिण अफ्रीका दौरे पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है, क्योंकि यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण गेम है।” इसके अलावा मदन लाल ने गावस्कर के बयान पर सहमति जताते हुए कहा, “सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने सही बात कही। विराट को मैनेजमेंट से अपने सभी मुद्दों को साफ करना चाहिए। यह कोई बड़ी बात नहीं है। मैं कहूंगा कि चयनकर्ताओं को स्थिति को बेहतर तरीके से संभालना चाहिए था। इन विवादों को देखना और रोकना चयनकर्ताओं की ड्यूटी है। मुझे नहीं पता कि चयनकर्ताओं ने फैसला लेने से पहले विराट से बात की या नहीं।”

Leave a comment

Cancel reply