ashwin-harbhajan
टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में अश्विन ने ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह को पछाड़ दिया।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेली जा रही दो मुकाबलों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में दिग्गज स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने इतिहास रचा। टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में अश्विन ने ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह को पछाड़ दिया। अब वह टेस्ट प्रारूप में सर्वाधिक विकेट हासिल करने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज बन गए हैं। वहीं, आर अश्विन ने हरभजन को लेकर बड़ा खुलासा किया है।

इस सूची में रविचंद्रन अश्विन से आगे अनिल कुंबले (619) और कपिल देव (434) हैं। कानपुर टेस्ट के बाद अश्विन में बताया कि हरभजन ने उन्हें कैसे एक ऑफ स्पिनर बनने के लिए प्रेरित किया था। बीसीसीआई ने मंगलवार को अश्विन और श्रेयस का एक वीडियो अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर साझा की है, जिसमें उन्होंने इस बात का खुलासा किया है।

वीडियो में देखा जा सकता है कि जब श्रेयस अय्यर ने आर अश्विन से उनके प्रदर्शन के बारे में पूछा तो 35 साल के दिग्गज भारतीय क्रिकेटर ने कहा, “यह सिर्फ नंबर है, जो मेरी कोशिशों के कारण हासिल हो रहे हैं। मैं अपने खेल का आनंद लेने की कोशिश कर रहा हूं। मुझे इस बात की चिंता नहीं है कि मैं कितने विकेट के रिकॉर्ड को पार कर रहा हूं। मेरे लिए यह गर्व की बात है। आप भारत के लिए खेलते हैं, मेरा 200वां विकेट इसी मैदान पर था और अब मैंने कानपुर में ही हरभजन सिंह को पीछे छोड़ा।”

दाएं हाथ के स्पिनर ने आगे कहा, “जब हरभजन सिंह ने साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक गेंदबाजी की थी। तब मैंने नहीं सोचा था कि एक दिन ऑफ स्पिनर बनूंगा। मैं उनसे प्रेरित था और आज यहां हूं। बहुत से लोगों को यह कहानी पता होगी कि मैं पहले बल्लेबाज था, लेकिन साल 2001 की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के बाद मैंने स्पिन गेंदबाजी करने का फैसला किया। इस तरह मैंने शुरुआत की। मुझे नहीं पता कि मैं अब हरभजन के स्टाइल को कॉपी कर सकता हूं या नहीं।”

Leave a comment

Cancel reply