सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने भी मैच के बाद ब्रावो के प्रदर्शन की जमकर प्रशंसा की.

शुक्रवार को आईपीएल 2021 का 35वां मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेला गया, जिसमें सीएसके ने आरसीबी को 6 विकेट से पराजित किया। चेन्नई की जीत में हरफनमौला खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने जबरदस्त गेंदबाजी की और तीन विकेट चटकाए, जिसमें कप्तान विराट कोहली का भी विकेट था। आरसीबी के विरुद्ध ब्रावो के शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच के अवॉर्ड से नवाजा गया।

सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने भी मैच के बाद पोस्ट प्रेजेंटेशन सेरेमनी में ब्रावो के प्रदर्शन की जमकर प्रशंसा की और एक दिलचिस्प किस्सा भी सुनाया। धोनी ने कहा, “हम ओस को लेकर चिंतित थे और हमने पिछले सीजन में ये देखा था। आरसीबी ने शानदार शुरुआत की और आठवें या नौवें ओवर के बाद पिच थोड़ी स्लो हो गई। पडिक्कल जिस तरह से एक छोर से बल्लेबाजी कर रहे थे, उससे जडेजा का स्पेल काफी अहम था।”

40 साल के पूर्व भारतीय कप्तान ने आगे कहा, “मैंने मोईन से कहा कि वे ड्रिंक्स के दौरान एक छोर से गेंदबाजी करेंगे, लेकिन फिर मैंने अपना माइंड बदल लिया। मैंने फैसला किया कि ब्रावो को गेंदबाजी करनी चाहिए, क्योंकि जितना अधिक आप उन्हें देर से लाते हैं तो उनके लिए इन मुश्किल परिस्थितियों में सीधे चार ओवर करना मुश्किल हो जाता है।”

माही ने कहा, “ब्रावो फिट हैं और वे अच्छा खेल दिखा रहे हैं। मैं उन्हें अपना भाई कहता हूं और हमारे बीच हमेशा इस बात को लेकर झगड़ा होता है कि क्या उन्हें धीमी गेंद फेंकनी चाहिए, लेकिन अब हर कोई जानता है कि उनके पास स्लोवर बॉल है, इसलिए मैंने उसे एक ओवर में छह अलग-अलग गेंद फेंकने को कहा।” बता दें कि आरसीबी के विरुद्ध मैच में ड्वेन ब्रावो ने 24 रन देते हुए 3 अहम विकेट हासिल किए।

मुकाबले की बात करें तो रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 156 रन बनाए थे। आरसीबी की तरफ से कप्तान विराट कोहली ने 53 रन बनाए थे, जबकि देवदत्त पडिक्कल ने 70 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। इसके बाद 157 रनों का पीछा करने उतरी सीएसके ने 11 गेंदे शेष रहते हुए टारगेट हासिल कर लिया।

Leave a comment