डीसी के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग ने माही की इसी पारी की जमकर प्रशंसा की।

रविवार को आईपीएल 2021 का पहला क्वालीफायर मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच खेला गया था। इस मैच के आखिरी ओवर्स में एक बार फिर से कप्तान एमएस धोनी का फिनिशर अवतार देखने को मिला। उन्होंने अंतिम ओवर में चौके लगाकर दिल्ली कैपिटल्स के विरुद्ध पहले क्वालीफायर में 4 विकेट से जीत दर्ज की। इस जीत के साथ चेन्नई आईपीएल के फाइनल में 9वीं बार पहुंची। धोनी ने मात्र 6 गेंदों में नाबाद 18* रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। डीसी के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग ने माही की इसी पारी की जमकर प्रशंसा की।

रिकी पोंटिंग ने मुकाबले के बाद कहा, “धोनी खेल के महान खिलाड़ियों में से एक हैं। हम डगआउट में बैठकर सोच रहे थे कि अगला बल्लेबाज रविंद्र जडेजा होगा या धोनी तथा मैंने कहा कि धोनी बल्लेबाजी के लिए आएंगे और मैच का समापन करने की कोशिश करेंगे।” सीएसके को अंतिम ओवर में 13 रनों की दरकार थी और दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से आखिरी ओवर तेज गेंदबाज टॉम करन ने फेंका था। धोनी ने उस ओवर में तीन चौके लगाकर टीम को मैच जीताया।

46 साल के पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने आगे कहा, “देखिए, जब धोनी खेलना छोड़ देंगे, संन्यास ले लेंगे तो मुझे लगता है कि उन्हें निश्चित तौर पर इस खेल के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर में एक तौर पर याद किया जाएगा। हमें धोनी के लिए उन अंतिम दो ओवर्स में जैसी गेंदबाजी करनी चाहिए थी हम वैसा नहीं कर पाए और आप जानते हैं कि अगर आप चूक गए तो धोनी के सामने आपको इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। वे लंबे समय से ऐसा करते आ रहे हैं।”

गौरतलब है कि दिल्ली कैपिटल्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 172 रन बनाए थे। डीसी की तरफ से पृथ्वी शॉ ने 60 रन बनाए थे, जबकि कप्तान ऋषभ पंत ने नाबाद 51* रनों की जबरदस्त पारी खेली थी। 173 रनों का पीछा करने उतरी सीएसके ने 2 गेंदे शेष रहते हुए टारगेट हासिल कर लिया था। चेन्नई की तरफ से रुतुराज गायकवाड़ ने 70 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली और रोबिन उथप्पा ने 44 गेंदों में 63 रन बनाए।

Leave a comment