Virat Kohli
'कोहली को ज़िम्बाब्वे के खिलाफ वनडे सीरीज से ब्रेक नहीं लेना चाहिए था' भारतीय ओपनर का बयान

भारतीय (Indian) टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का इंग्लैंड के खिलाफ गुरूवार को लॉर्ड्स में खेले गए तीन मुकाबलों की वनडे सीरीज के दूसरे मैच में भी फ्लॉप शो जारी रहा. उन्होंने इस मैच में तीन बेहतरीन चौके जड़े और उम्मीद जगाई कि कोहली बड़ी पारी खेलेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. टेस्ट और टी20 में बुरी तरह से फ्लाप रहने के बाद वनडे में भी उनका बल्ला नहीं चल पाया. उन्होंने 16 रन की पारी खेली.

इससे पहले वे इंग्लैंड के विरुद्ध एजबेस्टन में खेले गए सीरीज के पांचवें और आखिरी टेस्ट की दोनों पारियों में भी सस्ते में आउट हो गए थे. उन्होंने पहली पारी में 19 गेंदों में 11, जबकि दूसरी इनिंग्स में 40 गेंदों में 20 रन बनाए थे. इस दौरान भी फैंस को उम्मीद थी कि कोहली इस टेस्ट मैच में अपने शतक के सूखे को समाप्त कर देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

बता दें कि दाएं हाथ के बल्लेबाज पिछले ढाई साल से एक भी शतक नहीं लगा पाए हैं. उन्होंने अपना आखिरी शतक 23 नवंबर 2019 को बांग्लादेश के खिलाफ बनाया था. विराट ने अपने आखिरी शतक के बाद 18 टेस्ट, 22 वनडे, 25 टी20 आई और 38 आईपीएल मैच खेल लिए हैं.

यह भी पढ़ें – ‘Final’ वनडे मैच में अंग्रेजों को ‘हार के जाल में’ फांसने के लिए कप्तान रोहित ने बनाई ख़ास रणनीति

कोहली अपनी खराब फॉर्म को लेकर लगातार आलोचकों का शिकार बन रहे हैं. 33 साल के खिलाड़ी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अब तक 70 शतक ठोंके हैं, लेकिन उनके चाहने वालों को 71वें अंतर्राष्ट्रीय शतक का इंतज़ार है. अब सवाल यह है कि वे अपना अगला शतक कब बनाएंगे.

Q. विराट कोहली ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय शतक कब बनाया था?

A. 2019 में

Leave a comment

Cancel reply