भारतीय खेमे में कोरोना की एंट्री के बाद कैसी थी खिलाड़ियों की हालत? कार्तिक ने बताया

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मुकाबलों की टेस्ट सीरीज का पांचवां और आखिरी मैच कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से रद्द कर दिया गया. टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण, फील्डिंग कोच आर श्रीधर, फिजियोथेरेपिस्ट नितिन पटेल और फाइनल टेस्ट मैच से कुछ समय पहले सहायक फिजियो योगेश परमार की रिपोर्ट कोविड-19 पॉजिटिव आने के बाद मैनचेस्टर टेस्ट को कैंसिल करने का फैसला लिया गया.

वहीं, टीम इंडिया के दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने कहा है कि भारतीय खेमें में कोरोना वायरस की एंट्री के बाद खिलाड़ी घबराहट महसूस कर रहे थे. बता दें कि कार्तिक ने भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज के शुरूआती तीन टेस्ट में कमेंट्री की थी.

उन्होंने कहा, “मैंने कुछ लोगों (भारतीय खिलाड़ियों) से बात की. श्रृंखला के सभी मैच लगभग आखिरी दिन तक खेले गए. सभी खिलाड़ी थके हुए हैं और टीम में पास सिर्फ एक फिजियो है. उनके पास दो फिजियो थे, लेकिन उनमें से एक मुख्य कोच एवं दो अन्य कोच के साथ कोविड-19 के कारण पृथकवास में है. उनके पास एक ही फिजियो था, जो अब कोरोना वायरस से संक्रमित है. यह बड़ी समस्या है.”

कार्तिक ने आगे कहा, “यह जरूरी नहीं कि अगर आज जांच में खिलाड़ी नेगेटिव आते हैं तो दो दिन बाद भी नेगेटिव ही रहेंगे. अगर एक भी खिलाड़ी जांच में पॉजिटिव आता है तो चीजें काफी बदल जाएंगी.’’

उल्लेखनीय है कि इंग्लैंड और भारत के बीच आखिरी मैच रद्द होने के बाद टेस्ट सीरीज का क्या परिणाम होगा, इस पर सस्पेंस बना हुआ है. आईसीसी, बीसीसीआई और ईसीबी के बीच सीरीज के रिजल्ट को लेकर चर्चा होगी और इसके बाद ही इसका नतीजा घोषित किया जाएगा.

Leave a comment