Yuvraj Singh
युवी ने साल 2000 में आईसीसी नॉकआउट टूर्नामेंट में डेब्यू किया था।

भारतीय (India) टीम क पूर्व दिग्गज हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने अपने इंटरनेशनल डेब्यू को लेकर एक मजेदार किस्सा सुनाया है। उन्होंने बताया है कि उनके डेब्यू से पहले उन्हें पूरी रात नींद नहीं आई थी, क्योंकि पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने उनके साथ एक प्रैंक किया था। बता दें कि युवी ने साल 2000 में आईसीसी नॉकआउट टूर्नामेंट में डेब्यू किया था।

40 साल के युवराज सिंह ने ‘होम ऑफ़ हीरोज़’ कार्यक्रम में बातचीत करते कहा कि मैच से पहले शाम को सौरव गांगुली ने उनसे पूछा था कि क्या वे मुकाबले में ओपनिंग करेंगे। इसपर उन्होंने कहा, “मैंने उनसे कहा कि अगर वे ऐसा चाहते हैं तो मैं ज़रूर ओपन करूंगा। इसके बाद मुझे सारी रात नींद नहीं आई।” हलांकि, युवी ने बताया कि गांगुली ने सुबह उठ कर उनसे कहा कि वे मजाक कर रहे थे और वे ही सचिन तेंदुलकर के साथ भारत की पारी की शुरुआत करेंगे।

सिक्सर किंग ने उस टूर्नामेंट में मेज़बान केनया के खिलाफ डेब्यू किया था, लेकिन उस मुकाबले में उनकी बल्लेबाजी नहीं आई थी। बता दें कि पूर्व ऑलराउंडर ने उस टूर्नामेंट में विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 84 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी, जिसमें भारत ने 265 रन बनाए थे। बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने उस मुकाबले के बारे में बताते हुए कहा मैं नंबर पांच पर बल्लेबाजी कर रहा था और बहुत तनाव में था।”

उन्होंने आगे कहा, “जब मैं बल्लेबाजी करने उतरा तब मेरा ध्यान सिर्फ गेंद पर ही केंद्रित हो चुका था। उस गेंदबाजी क्रम की गुणवत्ता ऐसी थी कि अगर आप आज मुझसे कहते कि मैंने अपनी पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध केवल 37 बनाए हैं तो भी मैं संतुष्ट होता। मेरा सौभाग्य था कि मैंने 84 रन बनाए थे।”

Leave a comment

Cancel reply