क्या सिडनी टेस्ट में पुजारा की वजह से 97 पर आउट हुए थे ऋषभ? रहाणे ने बताया गुस्से में कुछ ऐसा था पंत का रिएक्शन

2020-21 में भारत और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बीच खेली गई बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border-Gavaskar Trophy) टेस्ट क्रिकेट की सबसे रोमांचक सीरीज में से एक थी। टीम इंडिया (Team India) ने कंगारुओं को उन्ही के घर पर हरा कर इतिहास रचा था। इस सीरीज में बाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज़ ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने कमाल का खेल दिखाया था। उन्होंने कई बड़ी पारियां खेली, लेकिन अपनी एक इनिंग में वो दुर्भाग्यशाली रहे और उन्हें 97 के स्कोर पर आउट होना पड़ा। पंत ने इसका जिम्मेदार टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज़ चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) को बताया है।

ओटीटी (OTT) प्लेटफार्म वूट (VOOT) पर हाल ही में 2020-21 में खेली गई इस ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज की एक डॉक्यूमेंट्री ‘बन्दों में था दम’ रिलीज़ की गई है। जिसमें ऋषभ पंत ने अपने सिडनी टेस्ट में 97 पर आउट होने का जिम्मेदार चेतेश्वर पुजारा को ठहराया है। वे कहते हैं कि जब वो शतक के करीब थे तो उन्हें पता भी नहीं था, लेकिन पुजारा उसके पास आए और उन्होंने पंत को आराम से खेलने को कहा।

24 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज़ ने बताया कि पुजारा उनके पास आए और कहा, “ऋषभ विकेट बचाकर खेलो। आपको बॉउंड्री मारने कि जरुरत नहीं है। ये सुनकर मुझे बहुत गुस्सा आया, क्योंकि मेरा ध्यान शतक पूरा करने कि तरफ चला गया। हमें इतना अच्छा फ्लो बनाया था। अगर उस समय मेरा शतक हो जाता तो ये मेरे लिए सबसे खास होता।”

उस सीरीज के दौरान टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे सलामी बल्लेबाज़ अजिंक्य रहाणे ने आउट होने के बाद पंत का रिएक्शन भी बताया। उन्होंने कहा, “जब वो अंदर आया तो काफी गुस्से में और निराश था। उसने मुझसे कहा कि पुजारा भाई मेरे पास आए थे और उन्होंने मुझे याद दिलाया कि मैं 97 पर हूं। अगर वो मुझे याद नहीं दिलाते तो मेरा शतक पूरा हो जाता।”

Leave a comment

Cancel reply