Yuvraj singh
बता दें कि युवराज सिंह के रिटायर होने के बाद से भारतीय टीम को उनके जैसा कोई हरफनमौला खिलाड़ी नहीं मिला है, जो बल्ले और गेंद से वैसा ही प्रदर्शन कर सके।

विराट कोहली (Virat Kohli) के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा (Rajkumar Sharma) ने भारत के वनडे क्रिकेट में छठें गेंदबाजी विकल्प की समस्या पर अपनी राय व्यक्त की है। उनका मानना है कि टीम इंडिया (Team India) को वनडे प्रारूप में छठें गेंदबाजी विकल्प की समस्या से उबरने के लिए युवराज सिंह (Yuvraj Singh) जैसे बल्लेबाजी ऑलराउंडर की आवश्यकता है। उन्होंने कहा है कि युवी भारत के लिए बल्ले और गेंद दोनों से जबरदस्त प्रदर्शन करते थे।

राजकुमार शर्मा ने एकदिवसीय क्रिकेट में भारतीय टीम की सफलता में पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह के योगदान के बारे में बताया। उन्होंने खेलनीति पॉडकास्ट पर बातचीत करते हुए कहा, “युवराज सिंह बहुत उपयोगी थे। वह बल्ले से मैच विनर थे, लेकिन युवी गेंद से भी अहम योगदान देते थे और विकेट निकालते थे। भारत को मध्यक्रम में युवराज सिंह जैसे खिलाड़ी की जरूरत है।”

56 साल के राजकुमार ने यह भी कहा है कि जब तक टीम को छठा गेंदबाजी विकल्प नहीं मिलता है तब तक विराट और रोहित को थोड़ी गेंदबाजी करनी चाहिए। उन्होंने कहा, “दुर्भाग्य से, हमारा कोई भी प्रमुख बल्लेबाज गेंदबाजी नहीं करता है। विराट (Virat) और रोहित (Rohit) पहले गेंदबाजी करते थे, इसलिए अगर वे 3-4 ओवर डालना शुरू कर देते हैं तो यह टीम को बेहतर संतुलन प्रदान करेगा।”

बता दें कि युवराज सिंह के रिटायर होने के बाद से भारतीय टीम को उनके जैसा कोई हरफनमौला खिलाड़ी नहीं मिला है, जो बल्ले और गेंद से वैसा ही प्रदर्शन कर सके। वैसे पिछले कुछ सालों से टीम ने कई प्लेयर्स को मौका दिया, लेकिन परिणाम उनके हक में नहीं आया।

Leave a comment

Cancel reply