पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने भारत की प्लेइंग इलेवन में रविंद्र जडेजा को शामिल करने पर सवाल खड़े किए हैं।

न्यूजीलैंड ने भारत को आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में 8 विकेट से हराकर टेस्ट मेज पर कब्जा जमाया। इस महामुकाबले के आखिरी दिन कीवी टीम के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए भारतीय बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी थी। कई क्रिकेट पंडितों ने भारत की इस हार के बहुत कारण बताएं हैं, जिसपर लगातार चर्चा हो रही है। इसी बीच पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने भारत की प्लेइंग इलेवन में रविंद्र जडेजा को शामिल करने पर सवाल खड़े किए हैं।

55 साल के पूर्व क्रिकेटर ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से बातचीत करते हुए कहा, “अगर आप मुकाबला शुरू होने से पहले देखें तो भारत ने अंतिम ग्यारह में दो स्पिनर्स का चयन किया था, जो हमेशा एक बहस का मुद्दा होता है। खासतौर पर, जब कंडीशन ओवरकास्ट हो और टॉस एक दिन देरी से हुआ हो। उन्होंने एक खिलाड़ी को सिर्फ बल्लेबाज के रूप में चुना और वे जडेजा थे। जडेजा को उनकी स्पिन गेंदबाजी के लिए नहीं चुना गया था, बल्कि उन्हें उनकी बल्लेबाजी के लिए चुना गया था और ये ऐसी चीज है, जिसके मैं खिलाफ हूं।”

यह भी पढ़ें | IND v ENG: टीम इंडिया के लिए बुरी खबर, इंग्लैंड दौरे से पहले चोटिल हुआ स्टार खिलाड़ी

मांजरेकर ने आगे कहा, “आपको टीम में विशेषज्ञ खिलाड़ियों को चुनना होगा और अगर उन्हें लगता है कि पिच सूखी और टर्निंग थी तो वे अश्विन के साथ जडेजा को अपने बाएं हाथ के स्पिन के लिए चुनते तो यह समझ में आता, लेकिन उनको टीम में उनकी बल्लेबाजी के लिए लिया गया और ऐसा फैसला हमेशा भारत भारी पड़ता है।”

दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने हनुमा विहारी का समर्थन करते हुए कहा, “अगर भारत के पास हनुमा विहारी के तौर पर एक विशेषज्ञ बल्लेबाज होता, जिसके पास बहुत अच्छा डिफेंस है तो यह आसान होता। शायद भारत 170 की जगह 220, 225 या 230 बना सकता था, कौन जानता है?”

भारतीय टीम डब्ल्यूटीसी फाइनल की दूसरी पारी में महज 170 रनों पर ढेर हो गई थी और उन्होंने न्यूजीलैंड को जीत के लिए 139 रनों का टारगेट दिया था। इस लक्ष्य को कप्तान केन विलियमसन ने अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर के साथ मिलकर आसानी से हासिल कर लिया था। दोनों खिलाड़ियों ने तीसरी विकेट के लिए 96 रनों की शानदार साझेदारी की थी और टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाया था। इस दौरान विलियमसन ने नाबाद 52* रनों की अर्धशतकीय पारी खेली थी और टेलर ने नाबाद 47* रन बनाए।