rishabh pant
ऋषभ पंत इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों में टेस्ट शतक बनाने वाले एकमात्र भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज हैं.

भारत और न्यूजीलैंड के बीच आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला 18 जून से खेला जाना था, लेकिन साउथेम्प्टन में लगातार बारिश के कारण पहले दिन का खेल बिना टॉस और बिना एक भी गेंद फेंके रद्द हो गया। भारतीय टीम ने इस खिताबी मैच के लिए गुरुवार को अपनी प्लेइंग इलेवन का ऐलान कर दिया था, जबकि कीवी टीम ने अपनी अंतिम ग्यारह से पर्दा नहीं उठाया है। इस मैच के लिए टीम में युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को शामिल किया गया है। इसी बीच टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने पंत के टेस्ट क्रिकेट में प्रदर्शन को लेकर बड़ा बयान दिया है।

उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत करते हुए टेस्ट प्रारूप में पंत के शानदार प्रदर्शन की जमकर सराहना की। इरफान पठान ने कहा, “ऋषभ पंत ने हमें टेस्ट क्रिकेट के प्रति आकर्षित किया है। मेरी इस बात से कई सारे लोग सहमत होंगे, क्योंकि वे निडर अंदाज में खेलते हैं। पंत गिलक्रिस्ट की तरह आकर बल्लेबाजी करते हैं, जैसे वे नंबर 7 पर आकर अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से खेल का रुख बदल देते थे।”

यह भी पढ़ें | मिल्खा सिंह के निधन से खेल जगत में शोक की लहर, सचिन-सहवाग समेत इन खिलाड़ियों ने दी भावुक श्रद्धांजलि

पठान ने आगे कहा, “उन्होंने टीम की जीत में अहम भूमिका निभाते हुए मूल्यवान रन बनाए हैं। उनके भी प्रदर्शन में गिरावट आई थी, जिसके बाद उन्हें कप्तान और टीम का समर्थन मिलता रहा और इसके चलते वे खुद को साबित करने में सफल रहे। ऋद्धिमान साहा टीम के नंबर 1 विकेटकीपर हुआ करते थे, लेकिन उनकी जगह अपना स्थान बनाना आसान नहीं था। मगर उन्होंने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम में अपनी जगह पक्की की।”

ऋषभ पंत इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों में टेस्ट शतक बनाने वाले एकमात्र भारतीय विकेटकीपर हैं। बाएं हाथ के बल्लेबाज ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2020-21 में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत की उस ऐतिहासिक जीत में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध ब्रिसबेन में खेले गए निर्याणक मुकाबले में नाबाद 89* रनों की जबरदस्त पारी खेलते हुए टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाया था।

23 साल के भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2020-21
में 3 मुकाबलों में 68.50 के औसत से 274 रन बनाए थे। वहीं, उन्होंने भारत के लिए अब तक कुल 20 टेस्ट मुकाबलों में 45.26 के औसत और 3 शतक और 6 अर्धशतक की मदद से 1358 रन बनाए हैं।