पीसीबी ने मिकी आर्थर को मुख्य पद से हटा कर बड़ी गलती की।

इंग्लैंड की ‘कामचलाऊ’ टीम ने पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को तीन मुकाबलों की एकदिवसीय सीरीज में करारी शिकस्त दी। बाबर आजम के नेतृत्व वाली पाक टीम के इस शर्मनाक प्रदर्शन के बाद कई पाकिस्तानी दिग्गजों ने उन्हें खरी खोटी सुनाई है। अब इस सूची में पूर्व कप्तान राशिद लतीफ का नाम भी जुड़ गया है। उन्होंने पाकिस्तानी टीम के साथ-साथ पीसीबी पर कई संगीन आरोप लगाते हुए हमला किया है।

52 साल के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ने यूट्यूब चैनल क्रिकेट बाज पर बातचीत करते हुए कहा, “मैं मिस्बाह उल हक को दोष नहीं देता हूं, शायद वे मुख्य कोच नहीं बनना चाहते थे। वे एक कोच के रूप में युवा और अनुभवहीन थे, इसलिए उन्हें क्यों नियुक्त किया गया? जो हुआ उसके लिए पीसीबी को दोषी ठहराया जाना चाहिए। आज हम एक वनडे सीरीज बुरी तरह से हार गए। इसका मतलब है कि हमारा क्रिकेट इंग्लैंड की बेंच स्ट्रेंथ को भी हराने के लिए पर्याप्त नहीं है।”

इसके अलावा राशिद लतीफ का मानना है कि 2019 विश्व कप की हार के बाद पीसीबी ने मिकी आर्थर को मुख्य पद से हटा कर बड़ी गलती की। उन्होंने इस पर कहा, “मिकी आर्थर को क्यों हटाया गया? उनकी बर्खास्तगी का कारण क्या था? टीम ने उनको कोचिंग में अच्छा प्रदर्शन किया था और वे अच्छी तरह से आगे बढ़ रहे थे। रिकॉर्ड देखें और आप देख सकते हैं, लेकिन उन्हें राजनीति के कारण हटा दिया गया था।”

यह भी पढ़ें | शोएब अख्तर ने सचिन, लारा को नहीं बल्कि मुरलीधरन को बताया सबसे मुश्किल बल्लेबाज

राशिद लतीफ ने आगे कहा कि पाकिस्तान टीम ने सरफराज और आर्थर के अंडर कई सफलताएं हासिल की और मिस्बाह की कोचिंग में लगातार टीम विफल हो रही है। पाकिस्तान ने 2017 चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब सरफराज की कप्तानी और आर्थर की कोचिंग में जीता था। एकदिवसीय मुकाबलों की सीरीज में पराजय के बाद अब बाबर आजम के नेतृत्व वाली पाकिस्तान टीम इंग्लैंड के विरुद्ध 16 जुलाई से शुरू हो रही टी20 सीरीज में वापसी करने के इरादे से उतरेगी।