रावलपिंडी एक्सप्रेस ने बताया है कि उन्हें श्रीलंका के महानतम स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को गेंदबाजी करने में बहुत परेशानी होती थी।

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का नाम दुनियाभर के दिग्गज गेंदबाजों की गिनती में लिया जाता है। उनके सामने अच्छे-अच्छे बल्लेबाज खौफ खा जाया करते थे। अख्तर की उछलती हुई बाउंसर और यॉर्कर, बल्लेबाजों के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं होती थी, लेकिन उन्होंने खुलासा किया है कि उन्हें किस खिलाड़ी के सामने गेंदबाजी करते हुए सबसे ज्यादा मुश्किल होती थी।

रावलपिंडी एक्सप्रेस ने बताया है कि उन्हें श्रीलंका के महानतम स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को गेंदबाजी करने में बहुत परेशानी होती थी। मुरलीधरन ने अपने पूरे करियर में अधिकतर बल्लेवाजी नंबर 11 पर की। आमतौर पर निचले क्रम के बल्लेबाज तेज गेंदबाजों के लिए बड़ी चुनौती नहीं होते, लेकिन मुरलीधरन एक ऐसे क्रिकेटर थे, जिन्होंने अख्तर को बेहद परेशान किया था।

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज ने स्पोर्ट्सकीड़ा से बातचीत करते हुए कहा, “मुथैया मुरलीधरन को गेंदबाजी करना सबसे ज्यादा मुश्किल था। मैं मजाक नहीं कर रहा हूं। वे अनुरोध करते थे कि मैं उन्हें जान से न मारूं। वे कहते थे कि मेरी बाउंसर उन्हें लग गई तो वे मर जाएंगे। मुरलीधरन कहते थे मैं आगे गेंद फेंकू और वे अपना विकेट दे देंगे।”

यह भी पढ़ें | हार्दिक पांड्या के लिए श्रीलंका दौरे का सफर तय करना आसान नहीं होगा – पूर्व भारतीय चयनकर्ता

अख्तर ने आगे कहा, “जब भी मैं आगे गेंद फेंकता तो वे गेंद पर करारा शॉट लगाते और कहते गलती से लग गया।” इस दौरान उनसे यह भी पूछा गया कि वर्तमान समय में वे किस बल्लेबाज का विकेट लेना चाहेंगे तो उन्होंने विराट कोहली, बाबर आजम और इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स का नाम लिया। इसके अलावा उन्होंने आईपीएल और पीएसएल की तुलना पर कहा कि वे अपने देश से प्यार के चलते पीएसएल खेलेंगे, लेकिन आईपीएल वे इसलिए खेलेंगे, क्योंकि वहां क्रिकेटर्स को अच्छे पैसे मिलते हैं।