Shoaib Akhtar
शोएब अख्तर का बड़ा खुलासा, जानिए बल्लेबाजों को क्यों फेंकते थे इतनी बाउंसर गेंदे?

पाकिस्तान (Pakistan) टीम के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने बताया है कि वे बल्लेबाजों के खिलाफ बाउंसर गेंदबाजी क्यों किया करते थे. अख्तर ने कहा है कि वे बल्लेबाजों को बन्दर की तरह उछलते देखना पसंद करते थे.

46 साल के शोएब अख्तर ने कहा, “मैंने बाउंसर फेंके, क्योंकि बल्लेबाजों को बंदरों की तरह कूदते हुए देखना दिलकश था. झूठ नहीं बोल रहा, मैं बल्लेबाजों को सिर पर मारना चाहता था, क्योंकि मेरे पास गति थी. यह एक तेज गेंदबाज होने का लाभ है. यह बस होना है.”

मालूम हो कि शोएब अख्तर को दुनिया के सबसे खतरनाक गेंदबाजों में शुमार किया जाता है. वे 160 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से गेंदबाजी किया करते थे. उन्होंने अपनी बाउंसर से कई बार बल्लेबाजों को घायल किया. रावलपिंडी एक्सप्रेस ने 46 टेस्ट मुकाबलों में 178, 163 वनडे मैचों में 247 और 15 टी20 आई में 19 विकेट चटकाए हैं.

यह भी पढ़ें – कोहली को 110 शतक लगाते देखना चाहते हैं शोएब अख्तर, बोले ‘बेफिक्र होकर 45 साल तक खेलना’

दाएं हाथ के इस पेसर ने 8 मार्च 2011 को पाकिस्तान के लिए अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच खेला था. यह वनडे मुकाबला श्रीलंका के पल्लेकेले इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया था, जोकि न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ था.

Leave a comment

Cancel reply