Ravi shastri
टेस्ट क्रिकेट में सिर्फ शीर्ष 6 टीमों को ही शामिल करना चाहिए - रवि शास्त्री

भारतीय (Indian) टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने टेस्ट क्रिकेट को लेकर बड़ा बयान दिया है. उनका कहना है कि लाल गेंद वाले क्रिकेट को सिर्फ शीर्ष 6 टीमों तक ही सीमित रखा जाना चाहिए. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि सीमित ओवरों क्रिकेट पर भी जोर दिया जाना चाहिए.

60 साल के रवि शास्त्री ने टेलीग्राफ के स्पोर्ट्स पोडकास्ट पर कहा, “बात यह है कि यह फुटबॉल मॉडल है. आपके पास ईपीएल, ला लीगा, जर्मन लीग, दक्षिण अमेरिका कोपा अमेरिका है. भविष्य में ऐसा ही होगा. आपके पास एक विश्व कप होगा और फिर बाकी दुनिया भर में होने वाली सभी अलग-अलग लीग होंगी.”

शास्त्री के मुताबिक, “वेस्टइंडीज, बांग्लादेश, जिम्बाब्वे, अफगानिस्तान, आयरलैंड और श्रीलंका, जैसी टीमें टेस्ट खेलने से चूक जाएंगी, जो अभी तक टेस्ट रैंकिंग में शामिल नहीं हैं. चाहे वह भारत, इंग्लैंड या ऑस्ट्रेलिया हो, आपको टेस्ट मैच क्रिकेट खेलने के लिए रेड-बॉल सीरीज के लिए क्वालीफाई करना होगा. फिर इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि इंग्लैंड वेस्टइंडीज में नहीं जाता है या वेस्टइंडीज इंग्लैंड में आता है. अगर उन्हें टॉप 6 पर आना है तो खेलें और अगर नहीं आना है तो न खेलें.”

उन्होंने कहा, “इन शीर्ष छह टीम को एक-दूसरे के खिलाफ अधिक खेलने का मौका मिलेगा क्योंकि कम टी20 क्रिकेट और सिर्फ फ्रेंचाइजी क्रिकेट होने से समय मिलेगा. इसी तरह खेल के सभी प्रारूप बरकरार रह सकते हैं.”

यह भी पढ़ें – टीम इंडिया को आईसीसी विश्व कप 2023 का खिताब दिलाना चाहते हैं शिखर धवन

Q. रवि शास्त्री का जन्म कहां हुआ था?

A. मुंबई

Leave a comment

Cancel reply