बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन से बैटिंग कोच निराश, अब इन दो धुरंधरों से मैच में वापसी कराने की उम्मीद

एजबेस्टन टेस्ट के आखिरी दिन भारतीय टीम (Team India) बैकफुट पर नज़र आ रही है। मैच के पांचवे दिन इंग्लैंड (England) को जीतने के लिए महज़ 119 रन और बनाने हैं, तो वहीं भारतीय टीम को इस मुकाबले के साथ-साथ सीरीज जीतने के लिए इंग्लिश टीम के 7 विकेट चटकाने होंगे। पांच मैचों की इस सीरीज में भारत फ़िलहाल 2-1 से आगे है। पहली पारी में 416 रन बनाने वाली टीम इंडिया दूसरी पारी में 245 पर ढेर हो गई, जिससे भारतीय टीम के बैटिंग कोच विक्रम राठौर (Vikram Rathour) काफी निराश दिखाई दिए।

चौथे दिन का खेल खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में बल्लेबाजी कोच ने कहा, “मैं मानता हूं कि आज बैटिंग के मामले में हमारा दिन बेहद ही साधारण रहा। हम मुकाबले में आगे थे। हम ऐसी स्थिति में थे कि उन्हें मैच से पूरी तरह बाहर कर सकते थे, लेकिन बदकिस्मती से ऐसा हो नहीं सका।”

53 साल के विक्रम ने आगे कहा, “कई बल्लेबाजों ने अच्छी शुरुआत कर ली थी। मगर कोई भी अपनी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाया। हमें उम्मीद थी कि इनमें से कोई एक बड़ी पारी खेलेगा और अच्छी पार्टनरशिप करेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

बल्लेबाजों के फ्लॉप प्रदर्शन के बाद भी टीम इंडिया के बैटिंग कोच विक्रम राठौर को उम्मीद है कि भारतीय टीम गेंदबाज़ों के दम पर इस मुकाबले में वापसी कर सकती है। उन्होंने कहा, “हम सुबह अगर 2 विकेट ले लेते हैं, तो मुकाबला अभी भी खुला है। यह अभी भी बड़ा टारगेट है। जिस तरह से शमी और बुमराह गेंदबाजी कर रहे हैं उनके लिए कुछ भी मुश्किल नहीं है। पहले एक, फिर दो, फिर तीन और ऐसे ही विकेट लेकर वो हमें मैच में वापस ला सकते हैं।

Q. विक्रम राठौर का जन्म कब हुआ था?

A. 26 मार्च 1969 को

Leave a comment

Cancel reply