neeraj chopra crictoday
Tokyo Olympic 2020: नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास, जेवलिन थ्रो में भारत को दिलाया गोल्ड मेडल.

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाले भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने कहा है कि वे शनिवार को जेवलिन थ्रो के फाइनल में पहले दो थ्रो अच्छा फेंकने के बाद ओलंपिक रिकॉर्ड की कोशिश कर रहे थे. बता दें कि नीरज ने भारत को ओलंपिक्स में 13 सालों बाद स्वर्ण पदक दिलाया.

नीरज चोपड़ा ओलंपिक में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाले दूसरे खिलाड़ी बने हैं. उनसे पहले बीजिंग ओलंपिक 2008 में अभिनव बिंद्रा भारत के लिए गोल्ड मैडल जीतने वाले पहले खिलाड़ी बने थे. उन्होंने 10 मीटर एयर राइफल में यह उपलब्धि हासिल की थी.

नीरज ने कहा, “मैं थ्रो करने वाला अंतिम खिलाड़ी था और हर कोई थ्रो कर चुका था. मैं जान गया था कि मैं स्वर्ण जीत गया हूं, तो मेरे दिमाग में कुछ बदल गया, मैं इसे बयां नहीं कर सकता. मैं नहीं जानता कि क्या करूं और यह इस तरह का था कि मैंने क्या कर दिया है.”

उन्होंने आगे कहा, “मैं भाले के साथ ‘रन-अप’ पर था, लेकिन मैं सोच नहीं पा रहा था. मैंने संयम बनाया और अपने अंतिम थ्रो पर ध्यान लगाने का प्रयास किया, जो शानदार नहीं था, लेकिन फिर भी ठीक (84.24 मीटर का) था.”

याद हो कि भाला फेंक फाइनल में नीरज चोपड़ा ने पहले राउंड में 87.03 मीटर दूर भाला फेंका. इसके बाद उन्होंने दूसरे थ्रो में नीरज ने 87.58 मीटर दूर भाला फेंका, जबकि तीसरे थ्रो में उन्होंने 76.79 मीटर दूर भाला फेंका.

Leave a comment

Cancel reply