Gujarat Titans
IPL 2022- गुजरात टाइटंस के पहले ही सीजन में कामयाबी की 5 बड़ी वजह

इंडियन प्रीमियर लीग को अपना एक और नया चैंपियन मिल गया है। आईपीएल के पिछले 5 साल के बाद आखिरकार फिर से नई टीम ने चैंपियन बनने का कमाल किया है। इस सीजन पहली बार शामिल हुई गुजरात टाइटंस ने क्रिकेट पंडितों को झुठलाते हुए शानदार प्रदर्शन के दम पर चैंपियन बनने में सफलता हासिल की।

हार्दिक पांड्या की कप्तानी में गुजरात टाइटंस ने काफी जबरदस्त प्रदर्शन किया, जहां उन्होंने फाइनल मैच में राजस्थान रॉयल्स को आसानी से 7 विकेट से हराकर इस सीजन का ताज अपने सिर पर सजा दिया।

गुजरात टाइटंस का ना केवल फाइनल बल्कि पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन रहा। उन्होंने इस सीजन में खेले कुल 16 मैचों में 12 मैच जीतने में कामयाबी हासिल की। गुजरात टाइटंस की जीत के कई प्रमुख कारण माने जा सकते हैं। आपको बताते हैं वो 5 बड़ी वजह जिसने गुजरात को पहले ही सीजन दिलवा दिया टाइटल…

नहीं रही बड़े नामों पर निर्भर, निकले कई मैच विनर्स

गुजरात टाइटंस की टीम में दूसरी टीमों की तरह बड़े नामों की कमी रही। टीम में हार्दिक, राशिद और शमी को छोड़ दें तो कोई इतना बड़ा नाम नहीं था। लेकिन टीम पूरे टूर्नामेंट के दौरान एक से एक मैच विनर खिलाड़ी बनाने में कामयाब रही। इस सीजन गुजरात टाइटंस को काफी मैच विनर खिलाड़ी मिले, जिसमें शुभमन गिल, रिद्धीमान साहा, डेविड मिलर, राहुल तेवटिया से लेकर युवा यश दयाल भी मैच विनर के रूप में साबित हुए। इससे ये साबित होता है कि गुजरात टाइटंस की टीम किसी एक पर निर्भर ना रहकर एक टीम के रूप में खेले, जिस बात ने उन्हें खिताब तक पहुंचा दिया।

हार्दिक पांड्या की जबरदस्त लीडरशिप

आईपीएल से पहले तक स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पांड्या की फिटनेस और फॉर्म को लेकर काफी सवाल खड़े हो रहे थे। आईपीएल में गुजरात टाइटंस ने उन्हें कप्तानी दी, जिस पर किसी को भरोसा नहीं था। हार्दिक पांड्या के लिए भी कप्तानी का नया अनुभव था, लेकिन उन्होंने अपनी लीडरशीप स्किल्स से काफी प्रभाव छोड़ा। हार्दिक पांड्या वैसे तो बहुत ही आक्रमक खिलाड़ी रहे हैं, लेकिन कप्तानी ने उनका मिजाज पूरी तरह से बदल दिया। वो यहां कैप्टन कूल के रूप में नजर आए। हार्दिक ने यहां कप्तानी करते हुए ना केवल टीम को प्रेरित किया बल्कि उन्होंने खुद बल्लेबाजी और गेंदबाजी से लीडिंग फॉर्म द फ्रंट में रहे। उनकी लीडरशिप ने गुजरात टाइटंस की जीत में एक खास योगदान दिया।

कोच आशिष नेहरा ने टीम में बनाया खुशनुमा माहौल

गुजरात टाइटंस की एक नई फ्रेंचाइजी के साथ भारत के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज आशिष नेहरा को बतौर मुख्य कोच नियुक्त किया गया। आशिष नेहरा के पास मुख्य कोच के रूप में कोई अनुभव नहीं था। लेकिन यहां नेहरा ने अपने खुशनुमा मिजाज जैसा ही माहौल गुजरात टाइटंस के खेमे में पैदा किया। गुजरात की टीम में आशिष नेहरा ने एक कोच की तरह नहीं बल्कि दोस्त की तरह ट्रिट किया और टीम में मेल-जोल बढ़ाया। टीम नेहरा के इस रवैये के कारण एक-दूसरे के काफी करीब रहे, जिसमें परिवार जैसा माहौल रहा। नेहरा के द्वारा तैयार किए गए इस माहौल ने टीम में जान फूंक दी। खुद गुजरात के कई खिलाड़ियों ने आशिष नेहरा के द्वारा तैयार किया गया खुशनुमा वातावरण का काफी जिक्र किया। ये गुजरात की कामयाबी में खास वजह बनी।

क्वालिटी बॉलिंग लाइन-अप

कहते हैं एक मजबूत बल्लेबाजी लाइनआप आपको मैच जीतवा सकती है, लेकिन एक मजबूत गेंदबाजी लाइनअप से टूर्नामेंट जीते जाते हैं। इस बात को गुजरात टाइटंस ने सार्थक किया। गुजरात के पास इस सीजन में एक जबरदस्त और क्वालिटी गेंदबाजी लाइन अप रहा। जिसमें मोहम्मद शमी से लेकर लॉकी फर्ग्यूसन, और राशिद खान जैसे विश्वस्तरीय गेंदबाज के साथ ही यश दयाल और साई किशोर जैसे गेंदबाज रहे। साथ ही साथ कप्तान हार्दिक पंड्या भी गेंदबाजी में सपोर्ट करते रहे। इस तरह से उनकी गेंदबाजी में जबरदस्त क्वालिटी नजर आयी। इसी की बदौलत गुजरात ने चैंपियन बनने का स्वाद चखा।

निचले क्रम की बल्लेबाजी में भी रहे मैच विनर्स

गुजरात की टीम ने आईपीएल के इस सीजन में 9 में से 8 मैच स्कोर का पीछा करते हुए जीते। यानी उनकी टीम में लक्ष्य का पीछा करने की जबरदस्त काबिलियत नजर आयी। ये काबिलियत उनकी बल्लेबाजी में निचले क्रम पर फिनिशर्स के कारण दिखी। गुजरात टाइटंस के पास प्रमुख बल्लेबाजों के अलावा निचले क्रम पर राहुल तेवटिया और राशिद खान जैसे बल्लेबाज थे, जिन्होंने अपने दम पर कुछ मैचों को फिनिश किया। निचले क्रम की गहरायी ने गुजरात को इस सीजन काफी फायदा पहुंचाया।

Leave a comment

Cancel reply