Murali Vijay
भारतीय क्रिकेटर मुरली विजय ने कोविड-19 का टीका लेने से मना कर दिया है.

कोविड-19 का समय क्रिकेटरों के लिए काफी कठिन रहा है, बायो-बबल और क्वारंटाइन के कारण खिलाड़ियों का जीवन कठिन हो गया है. हालांकि, समय के साथ क्वारंटाइन के दिनों की संख्या में कमी आई है, खासकर कोविड वैक्सीन आने के बाद. अधिकांश वरिष्ठ भारतीय क्रिकेटरों को पहले से ही पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका है, लेकिन घरेलू क्रिकेट में ऐसा नहीं है.

भारतीय टेस्ट क्रिकेटर मुरली विजय ने कोविड-19 का टीका लेने से मना कर दिया है. नतीजतन, अब वह सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में तमिलनाडु के अभियान का हिस्सा नहीं है.

बीसीसीआई के एक सूत्र ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, “यह उनका निजी फैसला है. वह वैक्सीन लेने से हिचकिचा रहे हैं. बीसीसीआई SOP का कहना है कि एक खिलाड़ी को टूर्नामेंट शुरू होने से पहले एक हफ्ते तक और फिर जब तक वह टीम के साथ है बायो-बबल में रहने की जरूरत है. लेकिन विजय इसके लिए तैयार नहीं. इसलिए तमिलनाडु के चयनकर्ताओं ने उनके चयन पर विचार नहीं किया.”

रिपोर्ट के अनुसार, विजय बायो-बबल का हिस्सा भी नहीं बनना चाहते हैं. इसलिए, तमिलनाडु के चयनकर्ताओं ने उनके नाम पर विचार नहीं किया है.

Leave a comment