T20 World Cup

टी20 विश्व कप के सांतवें सीज़न की शुरुआत हो चुकी है, इस मेगा इवेंट का पहला मैच 17 अक्टूबर को ओमान और पापुआ न्यू गिनी के बीच खेला गया था. इस बार विश्व कप में 16 टीमें हिस्सा ले रही है. विश्व कप यह संस्करण भारत में आयोजित किया जाना था, लेकिन कोविड महामारी के कारण इसे संयुक्त अरब अमीरात और ओमान में स्थानांतरित करना पड़ा. 17 अक्टूबर से 22 अक्टूबर तक क्वालीफ़ायर राउंड चलेगा और सुपर 12 का आगाज़ 23 अक्टूबर से शुरू होगा. इस लेख में हम मुख्य कप्तानों को टी20 फॉर्मेट में उनके रिकॉर्डस के आधार पर रैंक दे रहे हैं.

विराट कोहली

विराट कोहली

विराट कोहली पहली बार टी20 वर्ल्ड कप में भारत की अगुवाई करेंगे. बतौर कप्तान यह टी20 फॉर्मेट में उनका आखिरी विश्व कप भी होगा. कोहली ने 45 टी20 आई मैचों में भारत की कप्तानी की है. इनमें से, भारत ने 27 मैचों में जीत हासिल की है और टीम को 14 में हार का सामना करना पड़ा हैं. टीम की अगुवाई करते हुए, कोहली का बतौर बल्लेबाज भी शानदार रिकॉर्ड रहा है. उन्होंने 48.45 की औसत से 1502 रन बनाए हैं. भारत में उनका औसत 68.75 और ऑस्ट्रेलिया में लगभग 50 का रहा है. रनों का पीछा करते हुए कोहली ने 57.76 की औसत से 982 रन बनाए हैं. हालांकि, वह पिछले कुछ समय से खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं, जो भारत के लिए चिंता का विषय है.

बाबर आज़म

बाबर आज़म

बाबर आज़म ने 28 टी20 आई मैचों में पाकिस्तान का नेतृत्व किया है, जिसमें से पाकिस्तान को 15 मैचों में जीत और 8 में हार मिली है. उन्होंने कप्तान रहते हुए अपने बल्ले से भी कमाल किया है. बाबर ने 43.52 की औसत से 914 रन बनाए हैं. ऑस्ट्रेलिया में तीन टी20 मैचों में उनका औसत 57 का रहा. वहीं, दक्षिण अफ्रीका में चार मैचों में उन्होंने 50 से अधिक के औसत से रन बनाए. घर में खेले गए चार मैचों में बाबर का औसत 41.33 का रहा है. बाबर आज़म का जीते हुए मैचों में भी एक प्रभावशाली रिकॉर्ड रहा है, वहां उन्होंने 47.23 की औसत से 614 रन बनाए हैं.

ओइन मोर्गन

ओइन मोर्गन

ओइन मोर्गन ने 64 टी20 आई मैचों में इंग्लैंड का नेतृत्व किया है, जिनमें से, टीम ने 37 जीते और 24 हारे हैं. टीम का नेतृत्व करते हुए एक बल्लेबाज के रूप में उनका रिकॉर्ड अच्छा नहीं है. मॉर्गन ने 64 मैचों में महज़ 27.97 की औसत से कुल 1371 रन बनाए हैं. न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया को छोड़कर, जहां उनका क्रमशः छह और आठ मैचों में 68 और 44 का औसत है, अधिकांश देशों में उनका टी20 रिकॉर्ड खराब रहा है. इंग्लैंड में भी 25 मैचों के बाद उनका औसत 23 का है. मोर्गन ने यूएई में दो मैचों में 60 रन बनाए हैं. वह जल्द ही अपनी फॉर्म को फिर से तलाशने के लिए उत्सुक होंगे.

एरोन फिंच

एरोन फिंच

ऑस्ट्रेलिया के इस धाकड़ सलामी बल्लेबाज ने अब तक 49 टी20 आई मैचों में ऑस्ट्रेलिया का नेतृत्व किया है, जिसमें टीम ने 23 जीते और 24 हारे हैं. टीम का कप्तान रहते हुए फिंच ने एक बल्लेबाज के रूप में 36.11 की औसत से 1589 रन बनाए हैं. इनमें से 620 रन उनके बल्ले से घरेलू मैदानों पर आए हैं, जबकि उन्होंने इंग्लैंड में 52.25 की औसत से 209 रन बनाए हैं. न्यूजीलैंड में भी उनका औसत लगभग 50 का रहा है. हालांकि, फिंच का संयुक्त अरब अमीरात में काफी खराब प्रदर्शन रहा है और उन्होंने पांच मैचों में 2 के औसत से कुल 10 रन ही बनाए हैं. यह एक ऐसी चीज है जिसमें उन्हें सुधार करने की जरूरत है. हालांकि जीते हुए मैंचो में फिंच का औसत 48.47 का है, जो उनकी मैच जिताने की क्षमता को साबित करता है.

केन विलियमसन

केन विलियमसन

न्यूजीलैंड के दिग्गज़ खिलाड़ी केन विलियमसन ने 49 टी20 आई मैचों में टीम का नेतृत्व किया है. जिसमें, न्यूजीलैंड ने 23 जीते हैं और 24 मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा है. बतौर कप्तान उन्होंने अपनी बल्लेबाज़ी में संतोषजनक प्रदर्शन किया है, उन्होंने 49 मैचों में 31.43 की औसत से 1383 रन बनाए हैं. इनमें से 934 रन घर पर बनाए हैं. विलियमसन का संयुक्त अरब अमीरात में कुछ ख़ास रिकॉर्ड नहीं रहा है और उन्होंने 5 मैचों में केवल 28 की औसत से ही रन बनाए हैं. जीते हुए मुकाबलों की अगर बात करें तो कीवी कप्तान ने 41.52 की औसत से 789 रन बनाए हैं.

कीरोन पोलार्ड

कीरोन पोलार्ड

कैरेबियाई आल-राउंडर कीरोन पोलार्ड ने 26 टी20 मैचों में वेस्टइंडीज का नेतृत्व किया है, जिसमें से टीम को 9 मैचों में जीत और 12 में हार मिली है. उन्होंने कप्तान के रूप में बल्ले और गेंद दोनों से योगदान दिया है. पोलार्ड ने बल्लेबाज़ी में 33.92 की औसत से 475 रन बनाए हैं तो दूसरी ओर गेंदबाज़ी में 21.93 की औसत से 15 विकेट भी चटकाए हैं. पोलार्ड ने कप्तान के रूप में अपने अधिकांश मैच घर पर ही खेले हैं, यही वजह है कि टी20 विश्व कप में उनका नेतृत्व सवालों के घेरे में रहेगा.

Leave a comment