आईपीएल ने कई भारतीय युवा खिलाड़ियों की किस्मत बदली है।

इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का आगाज 9 अप्रैल से होने जा रहा है। इस साल आईपीएल के सभी मुकाबले देश के छह शहरों में खेले जाएंगे। आईपीएल 2021 का फाइनल मैच और प्लेऑफ के मुकाबले अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले जाएंगे। आईपीएल ने कई भारतीय युवा खिलाड़ियों की किस्मत बदली है। ये खिलाड़ी 2-3 महीने दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर्स के साथ रहते हैं, जहां इन्हें बहुत कुछ सीखने को मिलता है। इतना ही नहीं यह खिलाड़ी अपने खेल में सुधार लाते हैं और बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए भविष्य में देश के लिए खेलते हैं। आज हम भारत के उन युवा खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे, जिनके आईपीएल 2021 के प्रदर्शन पर सबकी निगाहें रहेंगी।

  1. देवदत्त पडिक्कल

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडिक्कल ने इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने आईपीएल 2020 में आरसीबी की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाए थे। 20 साल के बाएं हाथ के बल्लेबाज ने आईपीएल के पिछले सीजन में 15 मुकाबलों में 31.53 के औसत से 473 रन बनाए थे। उनका आईपीएल में 124.80 का स्ट्राइक रेट है। ऐसे में इस साल भी उनके प्रदर्शन पर सबकी नजरें रहेंगी।

देवदत्त पडिक्कल ने विजय हजारे ट्रॉफी 2020-21 के सीजन में जबरदस्त बल्लेबाजी की है। इस दौरान पडिक्कल ने कई रिकॉर्ड बनाए हैं। उन्होंने 7 मैच खेलते हुए 147.40 के औसत से 737 बनाए हैं। कर्नाटक के इस युवा बल्लेबाज के सय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2020-21 के सीजन में 6 मुकाबलों में 43.60 के औसत से 218 रन बनाए थे। पडिक्कल के घरेलू क्रिकेट में इतने शानदार प्रदर्शन को देखते हुए वे आरसीबी को अच्छी शुरुआत दिला सकते हैं।

  1. रुतुराज गायकवाड़

चेन्नई सुपर किंग्स के युवा बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ ने आईपीएल 2020 में मैच कम खेले थे, लेकिन अपनी शानदार बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया था। उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में 6 मुकाबले खेले थे, जिसमें रुतुराज ने 51.00 के औसत से 204 रन बनाए थे। वहीं, उनके घरेलू क्रिकेट में आंकड़े बेहतरीन हैं।

24 साल के दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अब तक 21 मुकाबलों में 38.54 के औसत से 1349 बनाए हैं। वहीं, रुतुराज गायकवाड़ ने लिस्ट ए में अब तक 59 मैच में 47.87 के औसत से 2681 रन बनाए हैं। महाराष्ट्र के इस युवा बल्लेबाज ने विजय हजारे ट्रॉफी 2020-21 के सीजन में कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया है। उन्होंने 5 मुकाबले खेले थे, जिसमें रुतुराज ने 36.40 के औसत से 182 रन ही बनाए थे। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि वे आईपीएल 2021 में कैसा प्रदर्शन करते हैं।

  1. मोहम्मद अजहरुद्दीन

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन की नीलामी में केरल के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद अजहरुद्दीन को 20 लाख रूपए में खरीदा था। 27 साल के इस दाएं हाथ के बल्लेबाज ने सय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2020-21 के सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया था। उन्होंने 5 मुकाबलों में 53.50 के औसत से 214 रन बनाए थे। इस दौरान उनका 194.54 का स्ट्राइक रेट था। इस साल वे अपना पहला आईपीएल खेलेंगे। अब यह देखना होगा कि विराट कोहली की कप्तानी वाली आरसीबी में उन्हें अंतिम ग्यारह में जगह मिलती है या नहीं। हालांकि, उनके प्रदर्शन पर सबकी नजरें होंगी।

मोहम्मद अजहरुद्दीन के घरेलू क्रिकेट में आंकड़े ज्यादा शानदार नहीं हैं। उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अब तक 22 मुकाबलों में 25.91 के औसत से 959 रन बनाए हैं। वहीं, अजहरुद्दीन ने लिस्ट ए में अब तक 30 मैच खेले हैं और उसमें 25.43 के औसत से 585 रन बनाए हैं। इसके अलावा उनके टी20 में 24 मुकाबलों में 22.55 के औसत से 451 रन हैं। मोहम्मद अजहरुद्दीन को अभी तक भारत की तरफ से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका नहीं मिला है।

  1. यशस्वी जायसवाल

राजस्थान रॉयल्स के युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने कड़ी मेहनत की हैं। उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में सिर्फ 3 मुकाबलों में 40 रन बनाए थे। उन्हें पिछले साल आईपीएल में ज्यादा मैच खेलने का मौका नहीं मिला था और कुछ खास प्रदर्शन भी नहीं किया था। 19 साल के बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने घरेलू क्रिकेट में ज्यादा मैच नहीं खेले हैं।

यशस्वी जायसवाल ने लिस्ट ए क्रिकेट में अब तक 21 मुकाबले खेले हैं, जिसमें उन्होंने 51.94 के औसत से 987 रन बनाए हैं। वहीं, जायसवाल ने टी20 क्रिकेट में अब तक 8 मैच में 17.87 के औसत से 143 रन बनाए थे। इसके अलावा यशस्वी जायसवाल ने विजय हजारे ट्रॉफी 2020-21 के सीजन में 8 मुकाबले खेले थे और 26.00 के औसत से 208 रन बनाए थे और उन्होंने सय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2020-21 के सीजन में 5 मैच खेले थे और 20.60 के औसत से 103 रन बनाए थे।

  1. अर्जुन तेंदुलकर

मुंबई इंडियंस ने आईपीएल के 14वें सीजन की नीलामी में भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को 20 लाख रूपए में खरीदा है। अर्जुन ने अभी तक घरेलू क्रिकेट में सिर्फ 2 टी20 मैच खेले हैं। फिलहाल, उनको घरेलू प्रारूप में खास मौके नहीं मिले हैं। अर्जुन ऑलराउंडर के तौर पर खेलते हैं। अर्जुन तेंदुलकर की तुलना हमेशा उनके पिता सचिन तेंदुलकर से की जाती है, जिसके चलते उन्हें खूब आलोचना का सामना करना पड़ता है। अब यह देखना दिलचस्प होगा की अर्जुन तेंदुलकर मुंबई इंडियंस में अनुभवी खिलाड़ियों के संग अपने खेल में कैसे सुधार लाते हैं। वैसे उन्हें अंतिम ग्यारह में मौका शायद ही मिलेगा।

Leave a comment