T20 World Cup

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के अब तक हुए छह सीज़नों में कई रिकॉर्ड बने और कई टूटें. इस शनिवार को सुपर 12 राउंड के मुक़ाबले शुरू होने के बाद टूर्नामेंट के आगे बढ़ने के साथ कुछ रोमांचक मैच देखने की उम्मीद है. इस मेगा इवेंट में हमेशा हमें नजदीकी मुकाबलें देखने को मिले, लेकिन साथ ही कुछ बड़े स्कोर वाले मैच भी हमने इस टूर्नामेंट में देखे हैं. इस बार भी हमें कुछ बड़े स्कोर वाले मैच देखने को मिल सकते हैं.

पिछले कुछ वर्षों में रनों और विकेट दोनों के मामले में टीमों ने कुछ बड़ी जीत हासिल की हैं. ये मैच पूरी तरह से एकतरफा रहे हैं. इस लेख में हम आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में टीमों द्वारा दर्ज़ की गई सबसे बड़ी जीत पर प्रकाश डाल रहे हैं.

श्रीलंका ने केन्या को 172 रनों से हराया

रनों के मामले में सबसे बड़ी जीत श्रीलंका ने 2007 में आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के उद्घाटन मैच में हासिल की थी. श्रीलंका ने जोहान्सबर्ग में केन्या को 172 रनों से हराया था. केन्या के सामने श्रीलंकाई टीम ने 20 ओवर में 260/6 का बड़ा स्कोर खड़ा किया था. सनथ जयसूर्या (88) और महेला जयवर्धने (65) दोनों ने इस मैच में धमाकेदार पारी खेली थी. जवाब में, केन्या की पूरी टीम 88 रनों के कुल योग पर सिमट गई थी. इस मुकाबलें में लासिथ मलिंगा, चामिंडा वास और टी दिलशान ने दो-दो विकेट हासिल किए.

दक्षिण अफ्रीका ने स्कॉटलैंड को 130 रनों से हराया

टी20 वर्ल्ड कप में दूसरी सबसे बड़ी जीत दक्षिण अफ्रीका के नाम दर्ज़ है. 2009 में द ओवल में टी20 वर्ल्ड कप के एक मुकाबलें में स्कॉटलैंड पर 130 रन से जीत हासिल की थी. दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 211/5 रन बनाए. ग्रीम स्मिथ (38), जैक्स कैलिस (48) और एबी डिविलियर्स की 34 गेंदों में 79 नाबाद रनों की शानदार पारी की बदौलत अफ्रीकी टीम ने एक विशाल स्कोर खड़ा किया. इस मैच में डिविलियर्स का स्ट्राइक रेट 232.35 का रहा. जवाब में स्कॉटलैंड की टीम केवल 81 रन ही बना सकी.

इंग्लैंड ने अफगानिस्तान को 116 रनों से हराया

टी20 वर्ल्ड कप के चौथे सीज़न में इंग्लैंड ने अफगानिस्तान को 116 रन से हराया था. इंग्लैंड की टीम ने कोलंबो में 20 ओवरों में 196/5 का विशाल स्कोर खड़ा किया था. ल्यूक राइट ने शानदार 55 गेंदों में 99 रनों की पारी खेली और इंग्लैंड को एक शानदार स्कोर बनाने में मदद की. एलेक्स हेल्स और ओइन मोर्गन ने भी योगदान दिया. इंग्लैंड ने अफ़गानिस्तान को 80 रनों पर आल-आउट कर दिया, केवल गुलबदीन नायब ही दोहरे अंक तक पहुंच पाए. समित पटेल (2/6) ने इंग्लैंड की ओर से शानदार गेंदबाज़ी की और टीम ने यह मुकाबला आसानी से जीत लिया.

टी20 वर्ल्ड कप में तीन टीमों ने 10 विकेट से जीत दर्ज की है

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में विकेटों से जीत दर्ज़ करने के मामले में तीन टीमों ने 10 विकेट से जीत हासिल की है. ऑस्ट्रेलिया ने 2007 के संस्करण में 102 का पीछा करते हुए श्रीलंका को 10 विकेट से हराया था. ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए मैथ्यू हेडन ने नाबाद रहते हुए 58 रन बनाए थे. 2012 के टी20 वर्ल्ड में, दक्षिण अफ्रीका ने हंबनटोटा में जिम्बाब्वे को 10 विकटों से हराया था. पहले बल्लेबाजी करते हुए, जिम्बाब्वे केवल 93/8 का स्कोर ही बना सका और जवाब में, दक्षिण अफ्रीका ने 10 विकेट से यह मैच अपने नाम किया. रिचर्ड लेवी ने 44 गेंदों में नाबाद 50 रन बनाए. हाल ही में टी20 वर्ल्ड कप के सांतवे सीज़न में ओमान यह कारनामा दोहराने वाली तीसरी टीम बन गई है. उन्होंने क्वालीफ़ायर मुकाबलें में पीएनजी को 10 विकेट से हराया. ओमान के सामने पीएनजी ने 20 ओवर में 130 रनों का लक्ष्य रखा था. जिसे ओमान के सलामी बल्लेबाज आकिब इलियास(50) और जतिंदर सिंह(73) ने सिर्फ 13.4 ओवर में आसानी से हासिल कर लिया.

गेंदे शेष रहते हुए सबसे बड़ी जीत

शेष गेंदों के मामले में सबसे बड़ी जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम दर्ज़ है. उन्होंने चटगांव में 2014 टी20 वर्ल्ड कप में नीदरलैंड को सिर्फ 39 रन पर आउट किया और पांच ओवर में नौ विकेट से जीत हासिल की. श्रीलंका की टीम के पास 90 गेंदें (15 ओवर) शेष बची थी.

2007 वर्ल्ड टी20 में न्यूजीलैंड ने केन्या को नौ विकेट से हराया था. केन्या ने 73/10 पोस्ट किया और कीवी टीम ने केवल 7.4 ओवर में लक्ष्य का पीछा किया था. उनके पास 74 गेंदें शेष थी. 2007 वर्ल्ड टी20 में 102 रनों का पीछा करते हुए श्रीलंका को 10 विकेट से हराने वाली ऑस्ट्रेलिया ने महज 10.2 ओवर में लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल की. उनके पास 58 गेंदें (9.4 ओवर) शेष थी.

Leave a comment