t20 world cup

टी20 विश्व कप के सांतवे सीज़न की शुरुआत हो चुकी है. पापुआ न्यू गिनी और ओमान के बीच विश्व कप क्वालीफ़ायर राउंड का पहला मैच खेला गया, जिसमें ओमान ने पापुआ न्यू गिनी को 10 विकेट से हराकर इस मेगा इवेंट का आगाज़ किया. क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल कहा जाता है, लेकिन इस टी20 विश्व कप में कुछ टीमें ऐसी हैं, जिन्हें टी20 विश्व कप जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. इस लेख में हम उन टॉप 4 टीमों के बारे में जानेंगे, जो टी20 विश्व कप जीतने की प्रबल दावेदार हैं.

भारत

भारतीय टीम ने आखिरी बार 2007 में टी20 विश्व कप जीता था, उस समय महेंद्र सिंह धोनी टीम के कप्तान थे. जबकि, उस समय विराट कोहली का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करना बाकी था. अब विराट कोहली बतौर कप्तान पहली बार टी20 विश्व कप में टीम की अगुआई करेंगे. रोहित शर्मा और केएल राहुल के रूप में भारतीय टीम के पास एक बेहतरीन सलामी जोड़ी मौजूद है, मध्यक्रम में विराट कोहली हैं, तो साथ ही सबकी नज़रें सूर्यकुमार यादव पर भी टिकी होंगी. आईपीएल में अपने शानदार प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया में एंट्री पाने वाले सूर्यकुमार यादव का यह पहला टी20 विश्व कप है. मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए सूर्यकुमार यादव ने 135.71 के स्ट्राइक रेट से 115 मैचों में 2341 रन बनाए हैं, वहीं टी20 अंतर्राष्ट्रीय में उन्होंने 4 मुकाबलें खेलें हैं, जिनमें 169.51 के स्ट्राइक रेट से 139 रन बनाए हैं. भारतीय टीम के स्पिन विभाग को मजबूत करने के लिए अश्विन हैं, तो आईपीएल में कमाल का प्रदर्शन करने वाले वरुण चक्रवर्ती और अक्षर पटेल भी टीम में अहम भूमिका निभाएंगे. वहीं, टीम के पास जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार के रूप में एक बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ी आक्रमण हैं, जो इस टी20 विश्व कप में भारतीय टीम की मजबूती को दर्शाता है.

इंग्लैंड

मौजूदा टी20 रैंकिंग में इंग्लैंड की टीम नंबर एक पर है. यह टीम टी20 विश्व कप जीतने की प्रबल दावेदार टीमों में से एक है. इंग्लैंड की टीम, टॉप ऑर्डर से लेकर नीचे तक स्टार खिलाड़ियों से भरी हुई है. जेसन रॉय और जोस बटलर की सलामी जोड़ी टी20 क्रिकेट में अपनी आक्रमकता के लिए जानी जाती हैं, तो मध्यक्रम में जॉनी बेयरस्टो जैसे धाकड़ बल्लेबाज़इस टीम को मजबूती प्रदान कर रहे हैं. आईसीसी टी20 रैंकिंग में टॉप पर काबिज़ डेविड मलान पर सबकी नजरें होंगी, मलान ने 30 टी20 मैंचो में 43.19 के औसत से 1123 रन बनाए हैं. इस टीम में कप्तान इओन मॉर्गन की फॉर्म इंग्लैंड के लिए चिंता का विषय है. वहीं, बेहतरीन आल-राउंडर बेन स्टोक्स की कमी भी टीम को खलेगी. इंग्लैंड की गेंदबाज़ी कोधार देने के लिए टीम के पास मार्क वुड, क्रिस वोक्स और आदिल रशीद जैसे गेंदबाज़ मौजूद हैं.

वेस्टइंडीज

क्रिकेट के छोटे फॉर्मेट में वेस्टइंडीज की टीम सबसे ताकतवर नज़र आती है. मौजूदा समय में वेस्टइंडीज की टीम में टी20 स्पेशलिस्ट खिलाड़ियों की भरमार है और वह मैच का रुख किसी भी समय मोड़ने का माद्दा रखते हैं. इस टीम में टॉप ऑर्डर से लेकर नीचे तक हर कोई बड़े हिट्स लगाने का दम रखता है. वेस्टइंडीज की टीम 2012 और 2016 में टी20 विश्व कप का खिताब चुकी है. आंद्रे फ्लेचर, एविन लुईस और लेंडल सिमंस के रूप में वास्तव में इस टीम के पास बेहतरीन मैच विजेता बल्लेबाज़ मौजूद हैं. इस बार टी20 विश्व कप में वेस्टइंडीज के शिमरोन हेटमेयर पर टीम की निगाहें टिकी होंगी, बाएं हाथ के इस बल्लेबाज़ ने हाल ही में समाप्त हुए आईपीएल के 14वें संस्करण में बल्ले के साथ शानदार प्रदर्शन किया था, ऐसे में उनके आत्मविश्वास में भी बढ़ोतरी हुई होगी, जिसका लाभ उन्हें और टीम को इस विश्व कप में मिल सकता है.

न्यूजीलैंड

न्यूज़ीलैंड की टीम को आईसीसी इवेंट में उनके बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर हमेशा से एक मजबूत टीम माना जाता रहा है. 2019 विश्व कप के फाइनल मुकाबलें में हारकर, दुर्भाग्यवश यह टीम विश्व कप का खिताब नहीं जीत पाई, लेकिन इस बार केन विलियम्सन की कप्तानी में यह टीम अपना पहला टी20 विश्व कप जीतना चाहेगी. न्यूजीलैंड के पास बल्लेबाज़ी से लेकर गेंदबाज़ी में बेहतरीन खिलाड़ी मौजूद हैं, जो दोनों ही विभागों में गहराई प्रदान कराते हैं. केन विलियमसन लंबे समय से टीम की अगुवाई कर रहे हैं और वह टीम की कमियों से भी अवगत हैं. न्यूजीलैंड डेवोन कॉनवे आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 के आगामी संस्करण में देखने वाले खिलाड़ियों में से एक होंगे.

Leave a comment