युवराज सिंह ने धोनी को लेकर किया बड़ा खुलासा.

भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज क्र्केटर युवराज सिंह ने आईसीसी टी20 विश्व कप 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले में लगातार 6 छक्के जड़कर विश्व क्रिकेट जगत में सनसनी फैला दी थी. उन्होंने तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड की लगातार 6 गेंदों को सीमा रेखा के पार पहुंचाया था. युवी ने इस मैच में 12 गेंदों में अर्धशतक जड़ टी20 अंतर्राष्ट्रीय में सबसे तेज फिफ्टी का रिकॉर्ड भी बनाया था.

अब युवराज ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया है कि जब उन्होंने यह कारनामा किया था, तब कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का क्या रिएक्शन था. युवराज ने एक पॉडकास्ट (22 यार्न्स विद गौरव कपूर) में इसका खुलासा किया है.

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि धोनी काफी खुश थे. अगर आप कप्तान हैं और कोई खिलाड़ी लगातार छक्के लगा रहा है तो निश्चित तौर पर आपको खुशी होगी कि स्कोरबोर्ड आगे बढ़ रहा है. वो मैच हमें जीतना जरूरी था.”

याद हो कि युवराज द्वारा ब्रॉड के एक ओवर में लगातार 6 छक्के उड़ाने से पहले इंग्लिश ऑलराउंडर एंड्रू फ़्लिंटॉफ़ ने युवराज से बहस की थी. इस घटना को लेकर युवी ने कहा, “मुझे याद है कि मैंने फ्लिंटॉफ को दो चौके जड़े और जाहिर तौर पर उसे यह पसंद नहीं आया होगा. फ्लिंटॉफ ने मुझे कहा था, इधर आओ मैं तेरी गर्दन तोड़ दूंगा.’ युवराज ने बताया कि वो लड़ाई काफी ज्यादा गंभीर थी. मेरा मन हुआ कि मैं हर गेंद को छक्के के लिए पहुंचा दूं.” 

गौरतलब है कि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम इंडिया ने आईसीसी टी20 विश्व कप 2007 के टाइटल को अपने कब्ज़े में लिया था. धोनी ने नीली जर्सी वाली टीम को आईसीसी का हर मुख्य खिताब दिलाया है.

Leave a comment