रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में दोहरे शतक से चूकने पर यशस्वी जायसवाल ने जताया अफसोस

रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy 2022) के सेमीफाइनल में दोहरा शतक ना लगा पाने पर मुंबई (Mumbai) के युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने अफ़सोस जताया  है। बाएं हाथ का ये ताबड़तोड़ बल्लेबाज शानदार फॉर्म में चल रहा है। यशस्वी ने जबरदस्त बल्लेबजी करते हुए रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में दो शतक लगाए। उत्तर प्रदेश (UP) के खिलाफ अहम मैच में जायसवाल को उनकी शानदार बल्लेबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच से भी नवाज़ा गया।

यूपी के खिलाफ पहली पारी में यशस्वी जायसवाल ने 227 गेंदों में 15 चौके की मदद से 100 रन ठोंके। हालांकि, उन्हें दूसरी पारी में अपना खाता खोलने के लिए 54 गेंदें लग गई, लेकिन युवा खिलाड़ी ने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया और 372 गेंदों में 181 रन की लाजवाब पारी खेली।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया (TOI) के साथ एक इंटरव्यू में बाएं हाथ के बल्लेबाज यशस्वी ने दावा किया कि वह दोहरा शतक लगा सकते थे। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि मैं और अधिक रन बना सकता था, शायद 200 रन। लेकिन यह ठीक है।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं अपने प्रदर्शन और सेमीफाइनल में टीम के खेल से बेहद खुश हूं। मैं अभी फाइनल पर ध्यान दे रहा हूं। मैं बड़े मैच में अपनी लय बरकरार रखना चाहता हूं। मैंने बहुत मेहनत की और कुछ शॉट्स और तकनीक पर जमकर काम किया। समय के साथ मैंने बहुत आत्मविश्वास हासिल किया है। मुझे खुद के खेल और खुद की क्षमताओं पर पूरा विश्वास है।”

रणजी के सेमीफइनल मुकाबले की दोनों पारियों में शतक लगाने के बाद, यशस्वी जायसवाल रणजी मैच में दो शतक लगाने वाले मुंबई के पांचवें बल्लेबाज बन गए हैं। इससे पहले इस लिस्ट में सचिन तेंदुलकर, वसीम जाफर, रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे का नाम शामिल था। अब इस लिस्ट में मुंबई के यशस्वी बल्लेबाज का नाम भी जुड़ गया है।

इस खास लिस्ट में शामिल होने को लेकर मुंबई के युवा बल्लेबाज ने कहा कि मुझे इस रिकॉर्ड की जानकारी नहीं थी। जब मैं ड्रेसिंग रूम में लौटा तो मेरे टीम के साथियों ने मुझे इस रिकॉर्ड के बारे में बताया। मैं, सचिन सर, वसीम सर, रोहित और अजिंक्य जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के साथ अपना नाम देखकर सम्मानित महसूस कर रहा हूं। 

Leave a comment

Cancel reply