अगर भारत ने पहली पारी में बना लिए 250 रन तो जीत है पक्की!

भारत के महान धावक मिल्खा सिंह का शुक्रवार देर रात निधन हो गया. ‘फ्लाइंग सिख’ का इलाज चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में चल रहा था, जहां उन्होंने आखिरी सांस ली. ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम ने मिल्खा सिंह को श्रद्धांजली देने का निर्णय लिया है.

टीम इंडिया मौजूदा समय में इंग्लैंड के साउथेम्पटन में न्यूजीलैंड के विरुद्ध आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2021 का फाइनल खेल रही है और इस खिताबी मुकाबले में विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम ने मिल्खा सिंह की याद में काली पट्टी बांधकर उतरने का फैसला किया है.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने बताया, “भारतीय टीम मिल्खा सिंह की याद में काली पट्टी बांध कर उतरेगी, जिनका कोविड-19 के कारण निधन हो गया है.”

बता दें कि मिल्खा सिंह कोरोना वायरस से जूझने के बाद जिंदगी की जंग हार गए. इसी हफ्ते उनकी पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह का देहांत भी कोरोना की वजह से हो गया था. मिल्खा 91 साल के थे और उनकी पत्नी 85 वर्ष की थीं.

गौरतलब है कि इसी हफ्ते पत्नी की मौत हो जाने के बाद वे मिल्खा सिंह अपनी पत्नी के दाह संस्कार में भी शामिल नहीं हो सके थे क्योंकि वे खुद भी आईसीयू में भर्ती थे. 

बीसीसीआई के मुखिया सौरव गांगुली ने कहा, “इस खबर से बहुत आहत हूं. आरआईपी, भारत के महानतम खिलाड़ियों में से एक. आपने युवा भारतीयों को एथलीट बनने के सपने दिए. आपको करीब से जानने का सौभाग्य मुझे मिला.”

Leave a comment