हार्दिक फिलहाल गेंदबाजी करने की स्थिति में नहीं हैं.

भारतीय क्रिकेट चयनकर्ताओं ने शुक्रवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए अपनी 20 सदस्यीय टीम का ऐलान कर दिया, जिसमें स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या का चयन नहीं हुआ. अब हार्दिक को टेस्ट टीम में शामिल नहीं किए जाने की वजह सामना आई है. बता दें कि हार्दिक इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में टीम इंडिया का हिस्सा थे, लेकिन उन्हें एक भी मुकाबला खेलने का मौका नहीं मिल पाया था.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के एक सूत्र के मुताबिक, “हार्दिक पंड्या अभी गेंदबाजी करने की स्थिति में नहीं हैं. इंग्लैंड के खिलाफ उन्हें टीम में रखा गया था ताकि वे गेंदबाजी का भार संभालने के लिए तैयारी कर सकें, लेकिन वह प्रयोग चला नहीं. इसलिए इस बार टेस्ट क्रिकेट के लिए उनके नाम पर विचार नहीं किया गया है.” 

दरअसल, हार्दिक फिलहाल गेंदबाजी करने की स्थिति में नहीं हैं. याद हो कि उन्होंने इंग्लिश टीम के खिलाफ दो एकदिवसीय मुकाबलों में गेंदबाजी नहीं की थी. इतना ही नहीं इसके बाद वे आईपीएल-14 में भी गेंदबाजी करते नज़र नहीं आए थे. अब ऐसे में टेस्ट टीम में जगह बनाने के लिए उन्हें गेंदबाजी करनी अनिवार्य है. हालांकि, छोटे फोर्मेट में वे बतौर बल्लेबाज जगह बना सकते हैं.

गौरतलब है कि हार्दिक पांड्या ने अपना आखिरी टेस्ट मैच अगस्त 2018 में खेला था. इंग्लैंड के विरुद्ध साउथेम्पटन में खेले गए इस मुकाबले में भारतीय ऑलराउंडर बल्ले से बड़ा धमाका करने में नाकाम रहे थे, जबकि गेंदबाजी में उन्हें महज 1 ही विकेट हासिल हुआ था. सच तो यह है कि हार्दिक को फटाफट क्रिकेट के प्रारूप के सबसे खतरनाक खिलाड़ियों में शुमार किया जाता है. हालांकि, उनकी तुलना पूर्व दिग्गज भारतीय हरफनमौला खिलाड़ी कपिल देव से की जाती रही है.

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए भारत की 20 सदस्यीय टीम इस प्रकार है:

विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), रोहित शर्मा, शुभमन गिल, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, अक्षर पटेल, वॉशिंगटन सुंदर, जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, मोहम्मद शमी, शार्दुल ठाकुर और उमेश यादव.

Leave a comment