इसी बीच फाइनल मैच से पहले इशांत ने बड़ा बयान दिया है।

न्यूजीलैंड के विरुद्ध आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के मुकाबले के लिए विराट सेना पूरी तरह से तैयार है। दोनों टीम्स के बीच यह खिताबी मैच 18 जून से 22 जून तक साउथेम्पटन के रोज बाउल मैदान पर खेला जाएगा, जबकि इसके लिए 23 जून का दिन रिजर्व डे के तौर पर रखा गया है।

कीवी टीम ने जहां डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले मेजबान इंग्लैंड के विरुद्ध दो मुकाबलों की टेस्ट सीरीज खेली। वहीं, भारतीय टीम ने एक इंट्रा स्क्वाड मैच खेला, जिसमें खिलाड़ी अपनी शानदार लय में नज़र आए। इस इंट्रा स्क्वाड मैच में भारतीय टीम के दिग्गज तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 3 विकेट चटकाए। इसी बीच फाइनल मैच से पहले इशांत ने बड़ा बयान दिया है।

32 साल के दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत करते हुए कहा, “मुझे लगता है कि यह इतना मुश्किल नहीं है। मुझे लगता है कि बिना लार के भी गेंद स्विंग करेगी और किसी को गेंद को मेंटेन रखने की जिम्मेदारी लेनी होगी और अगर इन परिस्थितियों में गेंद को अच्छी तरह से मेंटेन रखा जाए तो गेंदबाजों के लिए इन परिस्थितियों में विकेट लेना काफी आसान हो जाएगा।”

यह भी पढ़ें | शार्दुल ठाकुर ने छोड़ा टीम का साथ, ऋषभ पंत ने रवि शास्त्री से की शिकायत

इशांत शर्मा ने यह भी बताया कि क्यों एक क्रिकेटर के लिए बदलाव जरूरी है। उन्होंने कहा, “आपको अलग तरह से ट्रेनिंग करने और बदलाव के अनुसार एडजस्ट होने की जरूरत पड़ती है। भारत में आपको कुछ समय बाद रिवर्स स्विंग मिलती है, लेकिन इंग्लैंड में स्विंग की वजह से लेंथ फुलर हो जाती है। इसलिए आपको लेंथ को एडजस्ट करना होगा।”

भारतीय पेसर ने कहा, “‘इसे फोर्स करना आसान नहीं है और यहां का मौसम ठंडा है इसलिए मौसम के हिसाब से एडजस्ट होने में समय लगता है। इसके अलावा क्वारंटाइन इसे और मुश्किल बना देता है, क्योंकि आप मैदान पर नहीं जा सकते। आईपीएल के बाद हमें मैदान में जाकर ट्रेनिंग करने की इजाजत नहीं मिली है। जिम की ट्रेनिंग और मैदान पर ट्रेनिंग बहुत अलग होती है, इसलिए आपको उसके साथ तालमेल बिठाना पड़ता है और इसमें समय लगता है।”