ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच एडिलेड टेस्ट के साथ चार मुकाबलों की टेस्ट सीरीज का आगाज हो चुका है। इस सीरीज के शुरुआत होने का इंतजार फैंस के साथ-साथ क्रिकेट के दिग्गजों को भी था। वहीं, भारतीय टीम के ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा बुधवार को ऑस्ट्रेलिया पहुंचे चुके हैं, जहां वह 14 दिनों की अनिवार्य क्वारंटीन वाली प्रक्रिया से गुजर रहे हैं। रोहित बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के आखिरी दो टेस्ट मैच के लिए टीम के साथ जुड़ जाएंगे। रोहित शर्मा चोटिल होने के कारण टीम का हिस्सा पहले नहीं बन पाए थे। अब सवाल खड़ा होता है कि रोहित की वापसी से टीम इंडिया को अंतिम दो टेस्ट में कैसे मजबूती मिल पाएगी?

पहले टेस्ट के बाद विराट रहेंगे अनुपस्थित

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले डे-नाइट मुकाबले के बाद विराट कोहली वापस स्वदेश लौट आएंगे। भारतीय टीम के कप्तान विराट की पत्नी अनुष्का शर्मा अगले साल जनवरी में अपने पहले बच्चे को जन्म देंगी। इस खूबसूरत पल में वह अपनी पत्नी के साथ रहना चाहते हैं, जिसके लिए उन्होंने कंगारुओं के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बीच में पैटरनिटी लीव ली है।

अब यह उम्मीद लगाई जा रही है कि अंतिम दो मुकाबलों में रोहित शर्मा खेलेंगे तो वह भारत को शुरुआत दिलाने में अहम भूमिका निभाएंगे। अगर रोहित शर्मा टीम की ओपनिंग मजबूत करते हैं तो मध्य क्रम के बल्लेबाजों को भी स्कोर आगे ले जाने में मदद मिलेगी। हालांकि पहले टेस्ट में पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल सलामी जोड़ी के तौर पर नाकाम रहे हैं ।

रोहित शर्मा में है मैच जिताने की क्षमता

सफेद गेंद क्रिकेट में तो रोहित शर्मा का प्रदर्शन शानदार है। उन्होंने कई बार सीमित ओवर खेल में अपनी जबरदस्त बल्लेबाजी का नमूना दिखाया हुआ है। रोहित का नाम क्रिकेट जगत के उन दिग्गज खिलाड़ियों की लिस्ट में लिया जाता है, जिन्होंने अपने दम पर भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई है। वाइट गेंद की ही तरह लाल गेंद क्रिकेट में भी हिटमैन शर्मा ने कई शानदार शतकीय पारियां खेली हैं।

सलामी बल्लेबाज में इतनी प्रतिभा है कि वह अपनी अद्भुत बल्लेबाजी से विपक्षी टीम की नाक में दम कर सकते हैं। अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इन दोनों मुकाबलों में रोहित ओपनिंग अच्छी करते हैं तो आने वाले बाकी खिलाड़ियों को रन बनाने में आसानी होगी। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि टेस्ट सीरीज में किस टीम का पलड़ा भारी रहता है।

रोहित शर्मा का टेस्ट क्रिकेट में कैसा है प्रदर्शन

टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज रोहित शर्मा का प्रदर्शन टेस्ट क्रिकेट की तुलना में सीमित ओवरों में शानदार है। साल 2013 से रोहित शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी कर रहे हैं, जिसके बाद वह ओर भी खतरनाक हो गए हैं। हालांकि उन्हें टेस्ट में ज्यादा मौके नहीं मिले हैं।

टेस्ट क्रिकेट में रोहित इतने बुरे भी नहीं हैं, लेकिन उन्होंने 32 मैचों में 2,141 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 6 शतक लगाए हैं। टेस्ट में उनका औसत 46.54 का है।

रोहित शर्मा का टेस्ट में है शानदार रिकॉर्ड

साल 2019 में रोहित शर्मा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की चार पारियों में कुल 529 रन बनाए थे। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 212 रनों का था और यह उनके टेस्ट करियर का भी सर्वश्रेष्ठ स्कोर था। हिटमैन शर्मा का औसत 132.25 का रहा था। रोहित ने इस टेस्ट सीरीज में दो दोहरे शतक और दो शतकीय पारी खेली थीं। वहीं, उन्होंने इस पूरी सीरीज में 62 चौके व 19 छक्के लगाकर वेस्ट इंडीज के शिमरोन हेटमायर के 15 छक्कों का रिकॉर्ड ध्वस्त किया था।

Leave a comment