एक हिंदी बॉलीवुड फिल्म में दिखाया था कि दो हीरो एक ही लड़की से प्यार करते हैं। एक हीरो तो मिस्टर परफेक्ट यानी कि हर काम में लाजवाब। दूसरा मस्त, तेज लेकिन अपने काम में कोई कमी नहीं। हीरोइन ने दूसरे से प्यार किया और जब पहले ने वजह पूछी तो जवाब था कि तुम हर काम में इतने परफेक्ट कि तुम प्यार करने योग्य नहीं, पूजने योग्य बन गए। क्रिकेट को चाहने वालों ने सचिन तेंदुलकर को भगवान बना दिया, अपने से अलग कर दिया। इस तरह वे तो गॉड ऑफ़ क्रिकेट बन गए। धोनी भी लगभग ऐसे ही हैं. किसी से कोई झगड़ा नहीं, हर किसी को साथ लेकर चलने वाले और मिस्टर परफेक्ट से कुछ ही कम। वे भी हर सम्मान के हकदार बन गए।

विराट कोहली ने अपने करियर की शुरुआत में कामयाबी हासिल करने के लिए, सचिन तेंदुलकर से शुभकामना नहीं ली, आशीर्वाद लिया। धोनी की कप्तानी में उनकी क्रिकेट आगे बढ़ी। इसलिए धोनी भी 'आदर्श' बनते चले गए। क्रिकेट के कामर्शियल बाजार पर सचिन तेंदुलकर कई साल छाए रहे। लगा था कोई उनकी बराबरी नहीं कर पाएगा। धोनी ने उनके रिकॉर्ड तोड़े तेंदुलकर से ज्यादा एंडोर्समेंट कॉन्ट्रैक्ट, ज्यादा फीस और एक दिन के कामर्शियल काम की फीस 1.5 करोड़ रूपये। कभी सुनी भी नहीं थी ऐसी फीस। बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों को भी ऐसी फीस नहीं मिलती थी।

विश्वास कीजिए ये सब अब पीछे रह गया है। विराट कोहली क्रिकेट के बाज़ार में बिक्री में इनसे भी बड़ा नाम बन गए, इनसे ज्यादा फीस और सबसे बड़ी बात ये कि आज का हर युवा क्रिकेटर विराट कोहली बनना चाहता है, तेंदुलकर या धोनी नहीं। इसीलिए विराट इनसे भी बड़ी ब्रैंड हैं. उनका नाम इनसे भी ज्यादा बड़ा है। तेंदुलकर और धोनी शायद पहुंच से बाहर हो गए और हर कोई अपने आपको विराट कोहली से जोड़ता है. उनसे बात कर सकते हैं, मिल सकते हैं, उनके प्यार और खेल भावना के किस्से हैं तो ग्राउंड में लड़ने और बहसबाज़ी के भी। आज का युवा अपने आपको विराट से जोड़ता है इसीलिए उनका चेहरा बिकता है।

इस साल फरवरी में जारी हुई डफ़ एंड फेल्प्स की रिपोर्ट के मुताबिक विराट कोहली की ब्रैंड वेल्यू  लगभग 238 मिलियन अमेरिकी डॉलर है और वे भारत के सबसे महंगे और कामयाब सेलिब्रिटी हैं। बॉलीवुड की मशहूर हस्तियां भी पीछे रह गईं। आज के क्रिकेटरों में उनके बाद रोहित शर्मा हैं 23 मिलियन डॉलर की ब्रैंड वेल्यू के साथ और इन दोनों रकम का फर्क अपने आप बता देता है कि विराट कोहली कहां पहुंच गए। सिर्फ एक साल के अंदर विराट कोहली की ब्रैंड वैल्यू में 39 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त दर्ज हुई और ये कोई मामूली बात नहीं है। धोनी नंबर 9 हैं 41.2 मिलियन डॉलर की ब्रैंड वैल्यू के साथ और तेंदुलकर नंबर 15 हैं 25.1 मिलियन डॉलर के साथ। अगर धोनी ने एक दिन की कमर्शियल ड्यूटी के लिए 1.5 करोड़ रूपये की फीस ली तो विराट कोहली तो एक दिन के काम के 4 करोड़ रूपये ले रहे हैं।

इसमें कोई शक नहीं कि तुलना गलत होगी, क्योंकि हर किसी ने अपने अपने समय में बेहतर किया और आगे के क्रिकेटरों के लिए मिसाल कायम की और बेहतर करने के लिए, पर जो चर्चा विराट कोहली के हिस्से में आई उसका जवाब नहीं। कहीं न कहीं इसमें ग्लेमर  की भी हिस्सेदारी है, क्योंकि विराट कोहली ने पावर कपल बनाया, जबकि तेंदुलकर और धोनी दोनों ने अपनी अपनी 'बैटर हॉफ' को इस चमक-दमक से दूर रखा।

Leave a comment