विश्व कप की शुरुआत होने वाली है. ऐसे में विश्व कप 2019 की प्रबल दावेदार मानी जा रही भारतीय क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप के लिए बेस्ट खिलाड़ियों को चुनने की तरफ ध्यान दे रही है. हालांकि टीम में अभी भी कुछ खिलाड़ियों को लेकर असमंजस की स्थित बनी हुई है. इनमें अजिंक्य रहाणे और केएल राहुल का नाम शामिल है. दरअसल विश्व कप के लिए इन दोनों खिलाड़ियों के चयन को लेकर काफी कन्फ्यूजन की स्थिति बनी हुई है.

हाल ही में भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के उपकप्तान रहाणे ने आईसीसी विश्व कप में शामिल किए जाने को लेकर इच्छा जाहिर की थी. रहाणे टेस्ट में अपनी काबिलियत साबित कर चुके हैं लेकिन एकदिवसीय क्रिकेट में अपनी जगह पक्की करने के लिए अभी भी संघर्ष करते आ रहे हैं. एकदिवसीय क्रिकेट में रहाणे 90 मैचों में खेलते हुए 2962 रन बना चुके हैं. इस दौरान उनकी औसत 35.26 और स्ट्राइक रेट 78.63 रही है. साथ ही रहाणे के नाम 24 अर्धशतक और 3 शतक भी दर्ज है.

हालांकि एकदिवसीय क्रिकेट मे रहाणे को काफी लंबे वक्त से नजरअंदाज किया जा रहा है. यहां तक की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप से पहले खेले जाने वाली आखिरी एकदिवसीय सीरीज में भी रहाणे को टीम में शामिल नहीं किया गया. जिसके बाद टीम मैनेजमेंट पर भी कई सवालिया निशान खड़े हो जाते हैं.

दूसरी तरफ टीम में केएल राहुल को लगातार मौके पर मौके दिए जा रहे हैं. राहुल काफी वक्त से आउट ऑफ फॉर्म हैं लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें टीम में शामिल किया जा रहा है. केएल राहुल ने अभी तक 13 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जिनमें उन्होंने 317 रन स्कोर किए हैं. इसके साथ ही उनकी औसत 35.22 और स्ट्राइक रेट 80.66 है. वहीं राहुल के नाम 2 अर्धशतक और 1 शतक दर्ज है. ऐसे में अगर देखा जाए तो एकदिवसीय क्रिकेट के अनुभव के मामले में केएल राहुल अजिंक्य रहाणे से काफी पीछे हैं. साथ ही वनडे क्रिकेट में राहुल फिलहाल कोई शानदार खेल भी नहीं दिखा पाए हैं.

रहाणे एक तरफ जहां टीम में ओपनिंग, मध्य क्रम और फिनिशर की भूमिका में ढ़लने में सहज महसूस करते हैं तो दूसरी तरफ राहुल शुरुआती बल्लेबाजों के तौर पर खेलने में ही कंफर्ट रहते हैं. अगर विश्व कप की टीम के लिए राहुल का चयन किया जाता है तो शिखर धवन और रोहित शर्मा के फिट रहने के कारण राहुल को प्लेइंग इलेवन में शामिल किए जाने के चांस बेहद कम हो जाएंगे. वहीं अगर रहाणे को टीम में शामिल किया जाता है तो जरूरी नहीं कि रहाणे को सिर्फ एक रिजर्व ओपनिंग बल्लेबाज के तौर पर सहेज कर रखा जाए, बल्कि जरूरत पड़ने पर निचले क्रम को मजबूती देने के लिए भी रहाणे का विश्व कप में इस्तेमाल किया जा सकता है.

ऐसे में मुश्किल हालात में रहाणे का अनुभव का फायदा भी टीम इंडिया को मिलेगा. जिसके कारण विश्व कप टीम चयन के लिए केएल राहुल की जगह रहाणे को टीम में शामिल किया जाना चाहिए.

Leave a comment

Cancel reply