विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स ने आखिरकार इस सीजन की आईपीएल में अपना खाता खोल लिया और हराया किंग्स इलेवन पंजाब को। किंग्स इलेवन ने पहले बल्लेबाजी करते हुए क्रिस गेल ने 99* की मदद से 173-4 बनाए थे। आईपीएल में अपना 7वां 100 का स्कोर, इतना करीब पहुंच कर भी न बनाने का दर्द शायद क्रिस गेल भूल जाते अगर उनकी टीम मैच जीत लेती। अपना शतक नहीं बना और टीम मैच हार गई यानि कि डबल निराशा।

आईपीएल में गेल के 6 शतक में से हर एक उनकी टीम के लिए मैच जीतने वाला सबित हुआ था। इसे देखते हुए तो लगता है कि उन्हें 100 पूरे करने चाहिए थे। गेल ये शिकायत नहीं कर सकते कि आखिर में उन्हें 100 पूरे करने का मौका नहीं मिला और वे नान स्ट्राइकर सिरे पर ही खड़े रह गए। गेल 95* पर थे और 2 गेंद बची थीं। गेल इनमें से पहली पर कोई रन नहीं बना पाए और दूसरी पर 4 का बाउंड्री शॉट लगा। हार वाले मैच में गेल ने अपना सबसे बड़ा स्कोर दर्ज किया।

99* के स्कोर पर क्रिस गेल के लिए साथ मौजूद है। उनसे पहले आईपीएल में सुरेश रैना अकेले बल्लेबाज थे जो 99* पर रह गए और अपना शतक पूरा नहीं कर पाए। 2013 की आईपीएल का 54वां मैच। हैदराबाद के विरूद्ध चेन्नई सुपर किंग्स ने पहले बल्लेबाजी की और सुरेश रैना एवं माइक हसी की बदौलत 200 से ज्यादा का स्कोर बनाया। आखिरी गेंद पर, गेल की तरह ही, रैना स्ट्राइक पर थे और स्कोर था 95 रन। न रैना से 6 का स्ट्रोक लगा और न गेल से। दोनों बाउंड्री से 4 रन ही जोड़ पाए।

बहरहाल 99* का ये स्कोर सुरेश रैना को एक बड़े मजेदार संयोग पर ले गया था। वे आईपीएल में 98, 99 और 100 का स्कोर बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने।

दो बल्लेाबज और हैं, जो 99 पर रह गए और शतक पूरा नहीं कर पाए। फर्क ये है कि ये 99 पर आउट हुए थे। इनमें से एक ने तो ये रिकॉर्ड इस साल ही बनाया। इस साल दिल्ली केपिटल्स के लिए फिरोजशाह कोटला में कोलकाता नाइट राइडर्स के विरूद्ध युवा पृथ्वी शॉ ने 55 गेंद में 99 रन बनाए। लगता है कि शॉ थक गए थे और जल्दबाजी वाला शॉट लगाकर उन्होंने अपना विकेट गवांया। बहरहाल उनकी टीम मैच जीत गई।

पृथ्वी शॉ ने इस मामले में साथ दिया अपने टेस्ट कप्तान विराट कोहली का जो आईपीएल के इतिहास में 99 पर आउट होने वाले पहले बल्लेबाज बने थे। 10 मई 2013 को रॉयल चैलेंजर्स के लिए दिल्ली डेयरडेविल्स के विरूद्ध विराट कोहली ने 58 गेंद में 99 रन बनाए थे। इसका मतलब ये भी हुआ कि 2008 से शुरू हुई आईपीएल में 2012 तक न तो कोई 99 पर आउट हुआ था और न ही 99* पर अटका था। उसके बाद 2013 सीजन में दो दिन में दो बल्लेबाजों ने ये स्कोर दर्ज कर दिया। 8 मई को सुरेश रैना 99* पर अटके और 10 मई को विराट कोहली 99 पर आउट हुए। इसी तरह इस सीजन में भी डबल बना है – पृथ्वी शॉ 99 पर आउट हुए और गेल 99’ पर अटके।

इस सीजन के मैच नंबर 31 (15 अप्रैल तक) – आईपीएल के इतिहास में 90 से 99 तक का व्यक्तिगत स्कोर 57 बार बना है। ऐसा पहला स्कोर 22 अप्रैल 2008 को यानि कि पहले ही सीजन में बना जब दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए डेक्कन चारजर्स के विरूद्ध वीरेंद्र सहवाग ने 94* बनाए थे।

वैसे इस मामले में आईपीएल का सबसे अभाग्यशाली बल्लेबाजी कौन है? 90 से 99 के बीच का स्कोर जिसे नर्वस नाइनटीज भी कहते हैं – शिखर धवन, क्रिस गेल, विराट कोहली और ग्लेन मैक्सवेल ने 3-3 बार बनाया पर टॉप पर हैं डेविड वॉर्नर जो इस स्कोर का दर्द 5 बार झेल चुके हैं। 90 से 93 के बीच उनके नाम पांच स्कोर हैं – सभी हैदराबाद के लिए। इस स्कोर का दर्द टॉप बल्लेबाजों ने ही झेला है और नंबर 4 से नीचे का कोई बल्लेबाज नर्वस नाइनटीज के स्कोर की लिस्ट में नहीं है।

Leave a comment

Cancel reply