तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने को लेकर प्रतिक्रिया दी है।

भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज का पांचवां और आखिरी टेस्ट रद्द हो गया था। दोनों टीम्स के बीच यह मुकाबला मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर 10 सितंबर से खेला जाना था, लेकिन टीम इंडिया ने जूनियर फीजियो योगेश परमार के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इसे रद्द करने का फैसला लिया गया था। अब तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने को लेकर प्रतिक्रिया दी है।

29 साल के दाएं हाथ के पेसर ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए कहा, “मैंने इसके बारे में किसी को बात करते सुना था और हमें ऐसा लग रहा था कि मैच होगा। जैसा कि सबको लग रहा था कि मैच होगा ऐसे में हम सबका फोकस सिर्फ मैच पर था। यह पहली बार था, जब हमारे साथ हमारा मेन सपोर्ट स्टाफ नहीं था।”

लार्ड शार्दुल के नाम से मशहूर भारतीय क्रिकेटर ने आगे कहा, “वे हमें दिन का खेल खत्म होने के बाद बुलाते थे, मैंने भरत अरुण सर से बात की थी। उन्होंने मुझे बताया था कि किस लाइन और लेंथ से मैं गेंदबाजी कर सकता हूं। अगर उनके कुछ प्वॉइंट्स होते थे तो वे गेम के बाद हमें बताते थे।”

उन्होंने कहा, “हम इस बात को लेकर चिंतित थे कि आगे क्या होगा, कौन-कौन इनफेक्टेड होगा, क्योंकि परमार सबका ट्रीटमेंट कर रहे थे। हमें नहीं पता था कि आगे क्या होगा, क्योंकि इस इन्फेक्शन को ट्रैक करना नामुमकिन है। अगले चार-पांच दिन हमारे लिए मुश्किल थे, क्योंकि हमें डर था कि मुझे या हम में से किसी को यह इन्फेक्शन ना हो जाए। हर कोई अपने परिवार और उनकी हेल्थ को लेकर चिंतित था।”

बीसीसीआई और ईसीबी ने साथ मिलकर टेस्ट सीरीज के पांचवें और आखिरी मुकाबला को रद्द करने का फैसला लिया था। आपको मालूम हो तो भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ओवल टेस्ट के दौरान कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद वे आइसोलेट हो गए थे। इसके बाद टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फील्डिंग कोच और आर श्रीधर भी कोविड-19 टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए थे।

Leave a comment