25 रन के स्कोर पर ढेर हुई वेस्टइंडीज की टीम.

वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम में हमेशा से ही दिग्गज खिलाड़ी शामिल रहे हैं. एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट इतिहास में सबसे पहले दो विश्व कप जीतने का रिकॉर्ड भी इसी टीम के नाम पर दर्ज है. उन्होंने साल 1975 और 1979 में लगातार दो वनडे विश्व कप के खिताब अपने नाम किए थे. इससे पहले वेस्टइंडीज क्रिकेट के लिए एक ऐसा दिन भी आया था, जिसे वे कभी याद नहीं करना चाहेंगे. जी हां! अब से 52 साल पहले आज ही के दिन यानी 2 जुलाई 1969 को वेस्टइंडीज टीम को आयरलैंड के खिलाफ शर्मनाक हार मिली थी. इस मुकाबले में विंडीज टीम महज 25 रनों के स्कोर पर ही ऑलआउट हो गई थी.

दरअसल, 2 जुलाई को वेस्टइंडीज ने आयरलैंड के विरुद्ध एक मैच खेला था. यह एक दिन में दो-दो पारियों का मुकाबला था. हालांकि, मुकाबले से पहले यह तय हो गया था कि अगर दोनों टीम्स की दो पारियां समाप्त नहीं हुईं तो पहली पारी के बढ़त के आधार पर विजेता टीम को चुना जाएगा.

वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया था, लेकिन देखते ही देखते उनकी टीम के विकेट ताश के पत्तों की तरह बिखर गए थे. इस टीम की पारी 25.3 ओवर में महज 25 रन के स्कोर पर सिमट गई थी. आयरलैंड के लिए डगलस गुडविन और एलेक ओ’रिओडेन ने क्रमशः 5 और 4 विकेट अपने नाम किए थे. इस दौरान वेस्टइंडीज का कोई भी बल्लेबाज दहाई के अंक तक नहीं पहुंच पाया था.

इसके बाद आयरलैंड ने बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट के नुकसान पर 125 रन के स्कोर पारी घोषित कर दी थी. यह मैच ड्रॉ के रूप में समाप्त हुआ था, लेकिन मैच से पहले यह घोषणा कर दी गई थी कि अगर दोनों टीम्स की दो पारियां समाप्त नहीं हुईं तो पहली पारी के बढ़त के आधार पर विजेता को चुना जाएगा. इस हिसाब से आयरलैंड ने इस मैच में बाजी मार ली थी. बता दें कि यह मैच इंग्लैंड में सिओन मिल्स के होल्म फील्ड में खेला गया था.

Leave a comment