wasim akram mohammed amir
पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने मोहम्मद आमिर पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा है।

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने मोहम्मद आमिर पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा है। पूर्व कप्तान ने कहा कि जब कोई कोच का अपमान करता है तो उन्हें बहुत बुरा लगता है, इसलिए वे पाकिस्तान टीम मैनेजमेंट का हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं, क्योंकि खिलाड़ी और फैंस बहुत भड़ास निकालते हैं।

54 साल के बाएं हाथ के पूर्व पेसर का नाम क्रिकेट जगत के महानत तेज गेंदबाजों में गिना जाता है। वे स्विंग के सुल्तान के नाम से मशहूर हैं। इसके बाद भी वे पाकिस्तान की कोचिंग टीम का हिस्सा नहीं हैं। इस पर वसीम अकरम ने कहा, “पहली बात तो ये कि अगर आप किसी भी इंटरनेशनल टीम के साथ जुड़ना चाहते हैं तो फिर आपको कम से कम 200 से 250 दिन एक साल में देने होंगे। मुझे लगता है कि अपनी फैमिली से दूर रहते हुए मैं ये काम नहीं कर सकता । अगर किसी प्लेयर को वैसे कोई सलाह चाहिए तो वो मुझसे बात कर सकता है और मैं उसकी मदद करुंगा।”

हालिया में मोहम्मद आमिर ने पाकिस्तान टीम के कोच मिस्बाह उल हक और वकार यूनुस पर सवाल खड़े करते हुए कहा था कि उन्हें टीम के कोच की तरफ से पूरा सपोर्ट नहीं मिला और उन्हें टॉर्चर किया गया। अब आमिर के इस बयान पर वसीम अकरम निराशा जताते हुए कहा, “मैं बेवकूफ नहीं हूं कि जिस तरह से कुछ खिलाड़ी अपने कोच और सीनियर का अपमान करते हैं उसके बावजूद सोशल मीडिया चेक करूंगा। कोच मैदान में जाकर क्रिकेट नहीं खेलेंगे। ये खिलाड़ियों का काम है। एक कोच का काम सिर्फ प्लानिंग करना होता है और अगर टीम हार रही है तो फिर इसमें पूरी गलती सिर्फ उनकी ही नहीं होती है। मुझे कोचों के खिलाफ किसी भी तरह की बकवास पसंद नहीं है।”

इसके बाद बाएं हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज ने भारतीय क्रिकेट टीम का उदाहरण देते हुए कहा, “क्या आपने कभी टीम के खराब प्रदर्शन के चलते रवि शास्त्री को लोगों के गुस्से का सामना करते हुए देखा है? वे हारते भी हैं, कभी-कभी जीत भी जाते हैं, यह सब सामान्य है, लेकिन हम लोग या तो आसमान पर होंगे या फिर जमीन पर।”

Leave a comment

Cancel reply