PCB पर जमकर बरसे पूर्व कप्तान मिस्बाह उल हक, जानिए क्या है पूरा मामला?

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और मौजूदा समय के मशहूर कमेंटेटर रमीज़ राजा ने पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच मिस्बाह उल हक़ को लेकर एक विवादित बयान दिया है। उन्होंने मिस्बाह उल हक़ को गरीबों का एमएस धोनी बताया है। उनका मानना है कि मिस्बाह का स्वभाव भी धोनी की ही तरह शांत है, लेकिन अब बदलते ‘आधुनिक क्रिकेट’ के अनुसार उन्हें भी अपनी सोच में बदलाव लाने की जरूरत है।

रमीज़ राजा ने क्रिकेट बाज यू-ट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा, ”मिस्बाह उल हक की ट्रेनिंग अलग है। इस तरह से हम उन्हें गरीबों का एमएस धोनी कह सकते हैं। धोनी भी कूल रहते थे और इमोशनल नहीं होते थे। वैसे ही मिस्बाह भी हैं, लेकिन अब मुझे लगता है कि उन्हें आधुनिक तरीके से सोचना चाहिए।”

58 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज ने आगे कहा, ”पाकिस्तान क्रिकेट हमेशा अपने आक्रामक खेल के लिए जाना गया है। ऐसे में मिस्बाह को इसमें जीपीएस सेट करना होगा, क्योंकि उनके काल में हमने देखा है कि पाकिस्तान काफी रक्षात्मक क्रिकेट खेल खेल रहा है। इसलिए ज्यादा रक्षात्मक होना एक पिंजरा, जैसा बन जाता है। इससे टीम को हार मिल रही है। ऐसे में अगर हमारे पास सही टैलेंट है तो हमें आक्रामक क्रिकेट खेलना चाहिए और असफलता के डर से बाहर निकलना चाहिए।”

रमीज़ राजा ने भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री की तारीफ करते हुए कहा, ”जब हम रवि शास्त्री के विरुद्ध खेलते थे तो हमें लगता था कि वे भारतीय टीम में फिट नहीं बैठते हैं, क्योंकि वे आक्रामक खिलाड़ी थे। रवि किसी भी भूमिका के लिए तैयार रहते थे। पारी का आगाज करने से लेकर निचले क्रम में खेलने के लिए तैयार रहते थे। उसके हाव भाव भिन्न होते थे। हमें लगता था कि वे इमरान खान जैसा खिलाड़ी बनना चाहते हैं, क्योंकि हमें उन जैसे खिलाड़ी पसंद थे।”

उन्होंने आगे कहा, ”रवि शास्त्री ने यही रवैया भारतीय टीम से जोड़ा है और उनके लिए अच्छी बात यह रही कि कप्तान विराट कोहली, जो आक्रामक हैं और इससे भारतीय टीम में बड़ा अंतर पैदा हुआ है।”

Leave a comment