भारतीय टीम ने पिछले कुछ सालों में टेस्ट क्रिकेट में जबरदस्त प्रदर्शन किया है।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर रोहन गावस्कर का मानना है कि भारतीय टीम को सिर्फ एक टेस्ट के आधार पर नहीं आंका जाना चाहिए। विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के विरुद्ध डब्ल्यूटीसी फाइनल में 8 विकेट्स से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि, रोहन गावस्कर ने बड़ी तस्वीर पर अधिक ध्यान केंद्रित करते हुए कहा कि भारतीय टीम ने पिछले कुछ सालों में टेस्ट क्रिकेट में जबरदस्त प्रदर्शन किया है।

रोहन गावस्कर ने अपने यूट्यूब चैनल ‘क्रिकेट लाइफ स्टोरीज’ पर बात करते हुए कहा कि डब्ल्यूटीसी फाइनल हार को आईसीसी टूर्नामेंट जीतने में भारत के लिए एक और विफलता के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने कहा, “यह एक उत्कृष्ट क्रिकेट पक्ष है। आपके पास इस टीम में गुणवत्ता वाले क्रिकेटर हैं। हां, न्यूजीलैंड उस टेस्ट में हमसे बेहतर था, लेकिन इस तथ्य से दूर नहीं भागा जा सकता कि हमने पिछले कुछ सालों में टेस्ट प्रारूप में अच्छा प्रदर्शन किया है।”

यह भी पढ़ें | पुजारा के समर्थन में उतरे आकाश चोपड़ा, कहा – जो काम चेतेश्वर कर सकते हैं वो कोई और नहीं कर सकता

गावस्कर ने भारतीय पेसर्स को लेकर कहा, “भारत में पिच तेज गेंदबाजों के लिए बेहतर हो गई है, जहां तक तेज गेंदबाजों की बात करें तो भारतीय टीम में बेहतरीन खिलाड़ी हैं। 70 और 80 के दशक में आपके पास कपिल देव थे, जिन्होंने नई पीढ़ी के तेज गेंदबाजों को प्रेरित किया। उसके बाद टीम में श्रीनाथ, प्रसाद, ज़हीर खान जैसे दिग्गज तेज गेंदबाज आए। अब इस समय टीम इंडिया में 5-7 सीमर हैं। अब हमारे पास कुछ उच्च गुणवत्ता वाले तेज गेंदबाज हैं।”