माही की इस मदद से उनके खेल में काफी निरंतरता आई।

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कई युवा खिलाड़ियों की प्रतिभा को निखारा है। इस सूची में आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड़ का नाम भी शुमार है। महाराष्ट्र के इस खिलाड़ी ने हालिया बताया था कि धोनी ने कैसे उनके खेले में मदद की थी। माही की इस मदद से उनके खेल में काफी निरंतरता आई।

गायकवाड़ ने आनंद बाजार पत्रिका से बातचीत करते हुए कहा कि एमएस धोनी सीएसके के लिए बतौर सलामी बल्लेबाज उनकी पूरी मदद करते हैं। उन्होंने कहा, “माही भाई ने हमेशा मेरी मदद की है। आईपीएल के शुरुआत में मैं रन नहीं बना पा रहा था। मैंने भरोसा नहीं खोया और लगातार पारी की शुरुआत करता रहा। माही भाई ने मुझमें, जो भरोसा दिखाया उससे मुझे काफी मदद मिली।”

24 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज ने धोनी के उस गुरुमंत्र के बारे में भी बात की, जो उन्हें उनसे मिला। गायकवाड़ ने कहा, “धोनी ने उनसे कहा था कि हमेशा गेंद की क्वॉलिटी पर ध्यान दें न कि मैदान पर विपक्षी टीम की बातों पर। आपको कामयाबी गेंद की क्वॉलिटी के हिसाब से खेलने से मिलती है। विपक्षी टीम कई तरह से आपको परेशान करने की कोशिश करेगी। आपका ध्यान भटकाना चाहेगी। माही भाई ने मुझे इस जाल में नहीं फंसने की सलाह दी। उनकी यह सलाह मुझे श्रीलंका के इस दौरे पर बहुत काम आएगी।”

यह भी पढ़ें | ब्रैड हॉग ने एमएस धोनी को बताया सीएसके का ‘महाराजा’, माही को लेकर की बड़ी भविष्यवाणी

ऋतुराज गायकवाड़ को आईपीएल 2020 में चेन्नई सुपर किंग्स में शामिल किया था। भले ही उन्हें उस साल ज्यादा मौके नहीं मिले थे। दरअसल, सीजन की शुरुआत में ही गायकवाड़ को कोरोना वायरस का संक्रमण हो गया था। उन्हें स्वस्थ होने के बाद टीम प्रबंधन ने ज्यादा अवसर नहीं दिए थे। टूर्नामेंट के आखिरी लीग मुकाबलों में उन्हें खेलने का मौका मिला और उन्होंने सलामी बल्लेबाज के तौर पर तीन अर्धशतकीय पारियां खेलीं।