भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला नहीं कराए जाने का कोई मतलब ही नहीं बनता।

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और वर्तमान समय मे मशहूर कमेंटेटर रमीज़ राजा ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने इस टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान के बीच टेस्ट मुकाबला ना होने पर अपनी नराज़गी व्यक्त की है। रमीज़ को लगता है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में दोनों टीम्स के बीच एक भी टेस्ट मैच नहीं कराने का फैसला गलत था।

रमीज़ राजा ने यूट्यूब चैनल क्रिकेट बाज पर बातचीत करते हुए कहा, ”इस मौजूदा फॉर्मेट में कमियां हैं और ये काफी लंबा भी चला है। भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला नहीं कराए जाने का कोई मतलब ही नहीं बनता। सभी टीम्स ने एक जितने मुकाबले नहीं खेले, बल्कि अंक देने का तरीका भी अजीब रहा। तीन महीने का समय होना चाहिए था, जहां सभी टीम्स को एक-दूसरे के साथ खेलने का मौका दिया जाना चाहिए था।”

58 साल के पूर्व खिलाड़ी ने आगे कहा, ”अगली बार जब वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का आयोजन किया जाए तो इस दौरान कोई और क्रिकेट मुकाबले नहीं होने चाहिए। अगर आप टेस्ट क्रिकेट को आगे बढ़ाना चाहते हैं और लोगों को इससे जोड़ना है साथ ही स्पॉन्सर को भी इस फॉर्मेट की तरफ आकर्षिक करना है। स्पॉन्सर तभी इससे जुड़ेंगे जब आप उनको पैसा बनाने का दूसरा कोई विकल्प नहीं देंगे।”

रमीज़ ने पाकिस्तान के ख़राब प्रदर्शन के बारे में भी बात करते हुए कहा, ”हमारे जो मुकाबले घर के बाहर हुए वहां के कंडीशन बेहद खराब थे। मुझे इस चीज से कोई परहेज नहीं अगर आप लड़े और फिर हार जाएं, लेकिन अगर आपको पहले से पता है कि टीम को साउथ अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड जाना है और आप हारेंगे। ऐसे में आपके फैन की संख्या कैसे बढ़ेगी, आपका सिस्टम पर आत्मविश्वास कैसे बढ़ेगा।”

Leave a comment