पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के अध्यक्ष अहसान मनी ने कहा कि उनकी टीम अब घरेलू अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों का आयोजन तटस्थ स्थान पर कराने पर विचार नहीं करेगा. यानि कि अगर पीसीबी अपने फैसले पर अडिग रहता है तो फिर पाकिस्तानी क्रिकेट टीम अबुधाबी में कभी क्रिकेट खेलती नज़र नहीं आएगी. अहसान ने कड़े शब्दों में कहा कि अगर किसी देश को उनके खिलाफ खेलना है तो उन्हें पाकिस्तान आना ही होगा. बता दें कि आखिरी कुछ समय से पाकिस्तानी क्रिकेट में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. हालांकि, पीसीबी क्रिकेट को अपने घर में फिर से बहाल करने का हर संभव प्रयास कर रहा है.

अहसान ने कहा, “अब अन्य टीमों को हमें बताना होगा कि वे पाकिस्तान में क्यों नहीं खेलना चाहते. हमारी स्थिति यह है कि पाकिस्तान सुरक्षित है. हम पाकिस्तान में क्रिकेट खेल रहे हैं और अब अगर आपको पाकिस्तान के खिलाफ खेलना है तो आपको पाकिस्तान आना ही होगा.”

पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने बताया कि श्रीलंकाई टीम कड़ी सुरक्षा के बीच पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला रावलपिंडी में खेल रही है, जबकि दूसरा मैच कराची में खेलेगी.

गौरतलब है कि 2009 में लाहौर में गद्दाफी स्टेडियम के बाहर श्रीलंकाई टीम की बसों के काफिले पर आतंकवादी हमले में आठ लोग मारे गए थे और सात खिलाड़ी तथा अधिकारी घायल हो गए थे, जिसके दस साल बाद अब श्रीलंकाई टीम फिर से पाकिस्तान में द्विपक्षीय सीरीज खेल रही है.

Leave a comment

Cancel reply