rohit sharma rahul dravid
कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा को BCCI ने दी बड़ी राहत, जानिए क्या है पूरा मामला?

ये एक संयोग ही है कि टी20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के कप्तान और कोच, टीम के लिए तो वर्ल्ड कप जीतना ही चाहते हैं, अपने लिए भी जीतना चाहते हैं। यहां बात कर रहे हैं रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ की। दोनों का अपनी-अपनी पोस्ट संभालना कोई ज्यादा पुरानी बात नहीं है, इसीलिए कहा जा रहा है कि ‘हनीमून’ ख़त्म और अब सच्चाई का सामना करने का वक्त आ गया है।

सच्चाई ये है कि कहा गया था कि दोनों के साथ भारतीय क्रिकेट में एक नया युग शुरू हो रहा है और ये विराट कोहली-रवि शास्त्री से ज्यादा कामयाब रहेंगे। रोहित और द्रविड़ दोनों ही इस सीनियर ड्यूटी से पहले अपनी क्षमता साबित कर चुके थे और इसीलिए उम्मीद और भी ज्यादा हो गई थी। नौबत ये आ गई है कि जहां एक ओर ये कहा जा रहा है कि टी20 वर्ल्ड कप का नतीजा चाहे जो रहे, भारतीय क्रिकेट की भलाई के लिए रोहित शर्मा को कप्तानी अपने आप छोड़ देनी चाहिए, वहीं राहुल द्रविड़ के साथ ‘भारत की क्रिकेट का सबसे काला दौर’ वापस लौटने जैसी बात हो रही है। ये कहा जाना कि वे टीम इंडिया के लिए अगले ग्रेग चैपल साबित होंगे भले ही ‘कुछ ज्यादा’ है पर सोच यहां तक पहुंच चुकी है, ये चेतावनी है।

ऐसी सोच की सबसे ख़ास वजह है 2022 एशिया कप में निराशाजनक क्रिकेट, जिस टूर्नमेंट को जीतने गए थे, उसके फाइनल में भी न खेले। इस नतीजे ने टीम के हर डिपार्टमेंट में खेल में कई खामियां उजागर कीं। उसके बाद ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध अपनी पिचों पर शुरुआती टी20 इंटरनेशनल में 208 के विशाल स्कोर का बचाव करते हुए भी हार ने सवाल खड़े कर दिए हैं। रोहित शर्मा की कप्तानी पर सवाल हैं तो द्रविड़ के कोचिंग के तरीके पर भी तसल्ली नहीं। रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ उस तरह के नतीजे देने में नाकामयाब रहे हैं जिसकी उनसे उम्मीद की जा रही थी। इसलिए इस सारी चर्चा में बात सीधे टी20 वर्ल्ड कप पर आ जाती है, यानि कि टीम इंडिया के लिए बहुत बड़ी चुनौती।

भारत की आईसीसी इवेंट्स में कामयाबी की बात करते हुए इन दोनों के नाम के साथ सवाल एक ही जुड़ता है- क्या इस बार जीतेंगे? चुनौती जितनी बड़ी टीम के लिए उतनी ही कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ के लिए क्योंकि दोनों का पहला बड़ा इम्तिहान। हर हार को ‘प्रयोग और वर्ल्ड कप की तैयारी’ से जोड़ कर चुप तो कराते आ रहे हैं पर अब उन सभी प्रयोग का नतीजा सामने लाने का समय आ गया है। एशिया कप वेक-अप कॉल था और टीम सुपर 4 में पाकिस्तान और श्रीलंका दोनों से हार के बाद फाइनल भी नहीं खेल सकी।

तो रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ के लिए हनीमून खत्म और अब टिके रहने की चनौती सामने है। आईसीसी इवेंट में कामयाबी मिले- यही तो लक्ष्य था रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ को लाते हुए। ऐसा नहीं है कि उनके साथ टीम कामयाब नहीं रही पर जहां जीत की सख्त जरूरत थी, वहां नहीं जीते। ख़ास तौर पर राहुल द्रविड़ के जिस जादुई ‘टच’ की उम्मीद थी, वह नजर नहीं आया। गलत खिलाड़ियों के साथ, बिना जीत की भूख के खेलती नजर आई टीम।

बात साफ़ है- दोनों के साथ बहुत संयम दिखा दिया और उनका टीम इंडिया के कप्तान और कोच के तौर पर कामयाबी का ग्राफ तभी सही होगा जब टीम आईसीसी इवेंट जीते और इसीलिए टी20 वर्ल्ड कप चुनौती है। एशिया कप में प्रदर्शन के बाद सवाल, क्या अब भी टाइटल के लिए फेवरेट हैं? अब जबकि टी 20 वर्ल्ड कप के मैच कुछ ही दूर, तब भी ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध मैचों में अपनी आख़िरी इलेवन को मौका देने की जगह टीम प्रयोग करती नजर आई। मिडिल आर्डर तय नहीं, प्लेइंग इलेवन के लिए नंबर 1 विकेटकीपर तय नहीं और जडेजा की जगह कौन लेगा- ये तय नहीं।

किसी भी कप्तान या कोच के लिए इस हाई-प्रोफाइल क्रिकेट टीम की जिम्मेदारी आसान चुनौती नहीं। ऐसे में दोनों को ढेरों खिलाड़ियों के साथ टीम को संभालना पड़ा। कई बदलाव और प्रयोग हुए पर अच्छे कप्तान और कोच की पहचान तो यही है कि टीम पर इसका असर न आने दें। रिपोर्ट कार्ड में सिर्फ मैचों और आईसीसी इवेंट के नतीजे देखे जाते हैं। इसलिए जहां द्रविड़ को साबित करना है- वे सिर्फ अंडर 19 को टाइटल दिलाने वाले कोच नहीं वहीं रोहित शर्मा को साबित करना है वे सिर्फ आईपीएल टाइटल जीतने वाले कप्तान नहीं। राहुल द्रविड़ का कॉन्ट्रैक्ट अगले साल के 50 ओवर वर्ल्ड कप तक है इसलिए वे वर्ल्ड कप तक तो टीम के साथ रहेंगे ही और टीम को एक नई अस्थिरता से बचाने के लिए रोहित शर्मा को भी तब तक के लिए टीम का कप्तान बनाए रखना होगा। इसलिए हाल फिलहाल किसी बदलाव की बात न कर टीम को जीत की राह पर ले जाने की बात करें।

यह भी पढ़ें – 5 कारण, जिनके चलते टीम इंडिया को ICC टी20 विश्व कप 2022 के खिताब को जीतना चाहिए

Q. इस बार आईसीसी टी20 विश्व कप कहां खेला जाएगा?

A. ऑस्ट्रेलिया में

Leave a comment

Cancel reply