surya de villiers
सूर्यकुमार यादव - भारत का 'एबी डी विलियर्स'

भारतीय (Indian) टीम के स्टार बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) ने अपने छोटे से करियर में ही कई बड़ी उपलब्धियों को हासिल कर लिया है. सूर्यकुमार में क्रिकेट के मैदान के किसी भी ओर शॉट खेलने की काबिलियत है. वे स्टेडियम की किसी भी दिशा में हवाई या ज़मीनी शॉट खेल सकते हैं. इसी के चलते क्रिकेट के जानकार उनकी तुलना दक्षिण अफ्रीका के महान बल्लेबाज एबी डी विलियर्स से करते हैं. एबी को 360 डिग्री वाला खिलाड़ी कहा जाता है. अब सूर्य को भी भारत का डी विलियर्स माना जाने लगा है.

सूर्यकुमार डी विलियर्स से अलग नहीं हैं. भारत के लिए अपनी पहली दो टी20 आई पारियों में दाएं हाथ के बल्लेबाज ने जोफ्रा आर्चर, जैसे तूफानी गेंदबाज को छक्के के लिए मारा और उनकी यॉर्कर-लेंथ की गेंदों को आसानी से चौके के लिए भेजा और वो भी सिर्फ बल्ले का चेहरा खोलकर. उनमें पिच के लगभग सभी क्षेत्रों को टार्गेट बनाने की क्षमता है. सूर्यकुमार के खिलाफ फील्ड की सेटिंग करना किसी भी विपक्षी कप्तान या गेंदबाज के लिए बेहद मुश्किल होता है, क्योंकि वे किस गेंद पर, मैदान की कौन सी दिशा में शॉट खेल दें, यह कोई नहीं जानता.

सूर्यकुमार में तेज गेंदबाजों पर स्वीप शॉट खेलने का माद्दा है. इतना ही नहीं, वे स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ टर्न लेती गेंदों को भी नहीं छोड़ते हैं. यहां तक कि सूर्य किसी भी गेंदबाज के विरुद्ध पहली ही गेंद से आक्रामक शॉट खेलने का मन बना लेते हैं. ऐसे में उन्हें फर्क नहीं पड़ता कि गेंदबाज कौन है. उसके खिलाफ लॉफ्टेड शॉट खेलने की सूर्य की मंशा साफ होती है.

यादव ने साल 2021 में टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था. उन्होंने इंग्लैंड के विरुद्ध अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में अपना पहला मैच खेला था. इस मैच में उनकी बल्लेबाजी नहीं आ सकी थी, लेकिन सूर्य ने अपने टी20 आई करियर के छोटे से ही सफर में कई बड़े कीर्तिमान अपने नाम कर लिए हैं.

यह भी सच है कि 32 साल के सूर्यकुमार यादव ने भारतीय टीम में शामिल होने के बाद नीली जर्सी वाली टीम की बल्लेबाजी में नई जान फूंक दी है. सूर्यकुमार ने अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के दम पर अपने छोटे से टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर में बहुत कुछ हासिल कर लिया है. दाएं हाथ के बैटर ने अभी तक 34 टी20 आई मुकाबलों में 38.70 के औसत से 1045 रन बनाए हैं. उन्होंने एक शतक भी जमाया है. साथ ही यादव ने 9 अर्धशतक भी जड़े हैं. उन्होंने 63 छक्के और 93 चौके भी लगाए हैं. उनका उच्चतम व्यक्तिगत स्कोर 117 रन रहा है.

अगर सूर्यकुमार यादव के इंडियन प्रीमियर लीग के करियर पर नज़र डाली जाए, तो उन्होंने 123 मुकाबलों में 30.05 के औसत से 2644 रन बनाए हैं. इस दौरान यादव ने 136.78 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की है. उनका उच्चतम व्यक्तिगत स्कोर 82 रन रहा है. उन्होंने 16 अर्धशतक भी लगाए हैं. सूर्यकुमार पिछले कई संस्करणों से मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हुए आ रहे हैं. वे इस टीम के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में से एक हैं.

इस साल ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप में भी सूर्य का रोल बेहद अहम होने वाला है, जहां वे शानदार प्रदर्शन करते हुए मैन ऑफ द टूर्नामेंट बन सकते हैं. ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लगातार तीन अर्धशतक जड़ने के बाद सूर्यकुमार ने अपनी फॉर्म को टी20 वर्ल्ड कप के प्रैक्टिस मैच में भी जारी रखा. उन्होंने वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में 35 गेंदों में 53 रन की पारी खेली. सोमवार को खेले गए इस मैच को भारत ने 13 रन से अपने नाम किया था.

हाल ही में दक्षिण अफ्रीकी टीम के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने भी सूर्यकुमार यादव की तुलना अपने हमवतन पूर्व महान बैटर एबी डी विलियर्स से तुलना की. उनका कहना है कि कि सूर्य उन्हें एबी की याद दिलाते हैं. इसके अलावा पूर्व पेसर ने माना कि इस साल ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप में यादव भारत की खिताबी जीत में अहम भूमिका निभा सकते हैं.

स्टेन ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट लाइव’ पर कहा, “वह मैदान के चारों तरफ शॉट मारने में सक्षम अद्भुत खिलाड़ी हैं और मुझे एबी डी विलियर्स की याद दिलाते हैं. वह भारत के एबी डी विलियर्स हो सकते हैं और अभी वे, जिस तरह की फॉर्म में हैं, उसे देखते हुए विश्व कप में निश्चित तौर पर उन पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी.”

उन्होंने आगे कहा, “वह (सूर्यकुमार) इस तरह के खिलाड़ी हैं, जो गेंद की तेजी का उपयोग करना पसंद करते हैं. पर्थ, मेलबर्न और वहां के सभी विकेट में थोड़ी अतिरिक्त तेजी होगी, इसलिए आप उनका उपयोग कर सकते हैं. आप उन्हें फाइन लेग, विकेट के पीछे खेल सकते हैं और सीधे शॉट भी लगा सकते हैं. सूर्यकुमार बैक फुट के भी बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं.”

बहरहाल, सूर्यकुमार यादव भारतीय क्रिकेट की वह खोज हैं, जिसकी रौशनी से इंडियन क्रिकेट भविष्य में भी चमकता रह सकता है. एक कहावत है कि पूत के पांव पालने में नजर आ जाते हैं. इसका मतलब किसी भी व्यक्ति की प्रतिभा का अंदाजा शुरूआती दौर में ही हो जाता है. ऐसे ही, अभी सूर्य के करियर की शुरुआत है और आगे-आगे वे क्या-क्या कारनामे करते हैं, यह देखना काफी दिलचस्प होगा. क्या सूर्य की गिनती डी विलियर्स की तरह भविष्य में सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में होगी. यह तो वक्त ही बताएगा.

यह भी पढ़ें – स्टेन ने बताया, सूर्यकुमार में कौन से दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज की झलक नज़र आती है?

Q. सूर्यकुमार यादव के टी20 आई में कितने शतक हैं?

A. 1

वीडियो – वर्ल्ड कप के बाद विराट और रोहित लेंगे संन्यास

Leave a comment

Cancel reply