australian cricket team
क्या 18 साल बाद भारत में फिर टेस्ट सीरीज जीत पाएगी ऑस्ट्रेलियाई टीम?

भारत (India) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बीच चार मुकाबलों की टेस्ट सीरीज का आगाज़ अगले महीने से होने जा रहा है. श्रृंखला का पहला मैच 9 फरवरी से नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेला जाएगा. दिलचस्प बात यह है कि कंगारुओं ने भारत में साल 2004 से एक भी बार टेस्ट सीरीज नहीं जीती है. इसका मतलब यह है कि कंगारुओं को भारतीय सरज़मीं पर कोई टेस्ट सीरीज जीते हुए पूरे 18 साल हो चुके हैं. इस दौरान मेहमानों ने भारत को चार मुकाबलों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से पराजित किया था. इसके बाद से ऑस्ट्रेलिया ने यहां चार टेस्ट सीरीज खेली हैं, जिसमें उन्हें सभी में हार मिली है.

भारत ने कंगारुओं को साल 2008, 2010, 2012 और 2016 में टेस्ट सीरीज में पराजित किया था. इतना ही नहीं, टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को आखिरी दो टेस्ट सीरीज में उन्हीं की सरज़मीं पर हराया है. मेहमानों ने साल 2018 में और 2020 में कंगारुओं को हराया था. हालांकि, इस बार पैट कमिंस की कप्तानी वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम बेहद मजबूत नज़र आ रही है और उनमें भारत को भारत में हराने का दमखम है. अब हम उन पॉइंट्स पर नज़र डालेंगे, जिसके चलते मेहमान टीम 18 साल बाद यहां टेस्ट सीरीज जीत सकती है-

यह भी पढ़ें – 6 खिलाड़ी, जो बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में जीत सकते हैं प्लेयर ऑफ द सीरीज का खिताब

पिछले एक साल में ज़बरदस्त रहा है ऑस्ट्रेलिया का टेस्ट रिकॉर्ड

ऑस्ट्रेलियाई टीम का टेस्ट में पिछले एक साल में रिकॉर्ड बेहद शानदार रहा है. उन्होंने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका को तीन मुकाबलों की टेस्ट सीरीज में 2-0 से पराजित किया था. इससे पहले कंगारुओं ने वेस्टइंडीज को टेस्ट सीरीज में 2-0 से पटखनी दी थी. इतना ही नहीं, ऑस्ट्रेलिया ने एशेज सीरीज में इंग्लैंड का 4-0 से सूपड़ा साफ किया था. कंगारुओं ने पिछले एक साल में 12 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से उन्होंने 7 में जीत हासिल की है. इस दौरान 4 टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं, जबकि उन्हें श्रीलंका के खिलाफ महज एक ही मैच में हार मिली है. यह दर्शाता है कि मेहमान टीम इस बार बेहद मजबूत नज़र आ रही है और वे भारत को भारत में टेस्ट सीरीज हरा सकते हैं.

बेहद शानदार फॉर्म में हैं ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज

ऑस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाज मौजूदा समय में बेहद शानदार फॉर्म में नज़र आ रहे हैं, जिनमें उस्मान ख्वाजा, स्टीव स्मिथ, मार्नस लाबुशेन, डेविड वॉर्नर, ट्रेविस हेड जमकर रन बना रहे हैं. उस्मान ने पिछले साल 10 टेस्ट में 1080 रन, लाबुशेन ने 11 मैचों में 957 रन और स्मिथ ने 11 मुकाबलों में 876 रन बटोरे थे. वहीं, वॉर्नर और हेड ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में शानदार शतक जड़े थे. यहां तक कि मौजूदा आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में सर्वाधिक रन बनाने वालों की लिस्ट में टॉप 6 में ऑस्ट्रेलिया के 3 बैटर शामिल हैं, जिनमें उस्मान (1275), मार्नस (1265) और स्मिथ (1107) क्रमशः चौथे, पांचवें और छठे क्रम पर हैं, जबकि हेड 973 रनों के साथ इस लिस्ट में नौवें नंबर पर हैं. वहीं, टॉप-20 में भारत का सिर्फ एक ही बल्लेबाज इस लिस्ट में मौजूद है. ऋषभ पंत (868) रनों के साथ 14वें स्थान पर हैं. यह दर्शाता है कि ऑस्ट्रेलिया की टीम के शीर्ष बल्लेबाज इस बार शानदार फॉर्म में हैं, जो आगामी टेस्ट सीरीज में भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना कर सकते हैं और बड़ा स्कोर बना सकते हैं.

ऑस्ट्रेलियाई टीम के गेंदबाज भी हैं ज़बरदस्त लय में

बल्लेबाज तो बल्लेबाज, कंगारू टीम के गेंदबाज भी बेहद अच्छी लय में दिखाई दे रहे हैं. पिछले साल टेस्ट में सर्वाधिक विकेट चटकाने वालों की लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया के तीन गेंदबाज मौजूद हैं, जहां नाथन लियोन (47), पेट कमिंस (36) और मिचेल स्टार्क (35) क्रमशः दूसरे, सातवें और आठवें क्रम पर हैं. वहीं, इस लिस्ट में टॉप-20 में भारत का महज एक ही खिलाड़ी नज़र आ रहा है, जहां जसप्रीत बुमराह 22 विकेट के साथ 18वें स्थान पर हैं.

दूसरी तरफ, आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2021-23 में सर्वाधिक विकेट लेने वालों की लिस्ट में शीर्ष पर ऑस्ट्रेलिया के नाथन लियोन हैं. उन्होंने 61 विकेट झटके हैं. अगर टॉप-10 की बात करें, तो इसमें ऑस्ट्रेलिया के तीन गेंदबाज मौजूद हैं. लियोन के अलावा पेट कमिंस (50) और मिचेल स्टार्क (49) क्रमशः पांचवें और छठे स्थान पर हैं, जबकि टॉप-15 में भारत के दो ही गेंदबाज मौजूद हैं, जहां जसप्रीत बुमराह 45 विकेट के साथ आठवें स्थान पर हैं, तो रविचंद्रन अश्विन 14वें नंबर पर हैं, जिन्होंने 36 विकेट चटकाए हैं. यह भी सच है कि भारत के टॉप गेंदबाज बुमराह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज के शुरूआती दो मुकाबलों में नहीं खेल पाएंगे, क्योंकि उन्हें पीठ में चोट लगी है. हालांकि, अगले मैचों में भी बुमराह की उपलब्धता उनकी फिटनेस पर निर्भर करेगी. ऐसे में कंगारु टीम का पलड़ा भारी नज़र आ रहा है और उनके गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ शानदार प्रदर्शन कर सकते हैं.

Also Read: | Rohit Sharma again loses his cool on the field, blasts Shardul Thakur

आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की अंक तालिका में पहले नंबर पर है ऑस्ट्रेलियाई टीम

आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021-23 की अंक तालिका में ऑस्ट्रेलियाई टीम पहले नंबर पर है. कंगारुओं ने 15 टेस्ट में से 10 में जीत हासिल की है, जबकि उन्हें महज एक में ही हार का सामना करना पड़ा है. इस दौरान 4 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं. कंगारू 136 पॉइंट और 75.56 के पीसीटी अंक के साथ शीर्ष पर हैं. वहीं, भारत (14 टेस्ट में 8 जीत, 4 हार और 2 ड्रॉ के साथ) तालिका में 99 अंक और 58.93 के पीसीटी के साथ दूसरे स्थान पर है. अगर दोनों टीमों के बीच अंतर देखा जाए तो, ऑस्ट्रेलिया जीत प्रतिशत में भारत से कहीं आगे है, जो इस टीम के खेलने के तरीके को दर्शाता है. ऐसे में ऑस्ट्रेलिया आगामी टेस्ट सीरीज में भी अपनी जीत की लय को बरकरार रख सकती है. वे विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2021-23 के दौरान सिर्फ एक ही टेस्ट मैच हारी है.

ऑस्ट्रेलिया का यह रिकॉर्ड दर्शाता है कि वे मौजूदा समय में कितनी ज़बरदस्त लय में हैं. ऐसे में मेहमान इस बार भारत को भारत में टेस्ट सीरीज में पटखनी देकर 18 साल से चले आ रहे अपने जीत के सूखे को ख़त्म कर सकते हैं.

बॉर्डर गावस्कर सीरीज किन दो टीम्स के बीच खेली जाती है?

भारत और ऑस्ट्रेलिया

वीडियो – बुमराह और जडेजा की वापसी ने बढ़ाई भारत की टेंशन

Leave a comment

Cancel reply