Babar Azam
बाबर आजम को सचिन-विराट से बेहतर वनडे बल्लेबाज मानना कितना सही है?

विश्व क्रिकेट में एक से एक जबरदस्त और प्रभावशाली बल्लेबाज रहे हैं। क्रिकेट जगत में बल्लेबाजी सूरमाओं की कमी नहीं रही है, जिसमें कई दिग्गजों के नाम शामिल हैं। इन्ही नामों में इन दिनों पाकिस्तानी स्टार बल्लेबाज बाबर आजम अपना नाम स्थापित करने में लगे हुए हैं। पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम बहुत ही गहरी छाप छोड़ते जा रहे हैं, जो बल्लेबाजी में एक बहुत छोटे करियर में बड़े धमाके कर चुके हैं।

इस पाकिस्तानी बल्लेबाज के द्वारा आए दिन एक के बाद एक शानदार और प्रभावशाली पारियों को देखने के बाद उनकी तुलना विश्व क्रिकेट के कई बड़े दिग्गजों के साथ होने लगी हैं। बाबर आजम अब तक तो भारत के सेंचुरी किंग विराट कोहली और रिकॉर्ड पुरुष सचिन तेंदुलकर के साथ तुलना हो रही है।

सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली अपने आप में बहुत बड़े बल्लेबाज हैं। इन दोनों ही दिग्गज भारतीय बल्लेबाजों का दबदबा काफी सालों तक देखने को मिला। भारत की रन मशीन दोनों ही बल्लेबाजों ने खूब रन ठोके हैं, तो रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी है।

वनडे क्रिकेट के फॉर्मेट में इन दोनों ही बल्लेबाजों का कोई सानी नहीं है। सचिन जिनके नाम वनडे में सबसे ज्यादा शतक बनाने का रिकॉर्ड है, वहीं विराट कोहली इस फेहरिस्त में अपने आपको दूसरे स्थान पर बनाए हुए हैं।

अब बात करते हैं बाबर आजम की, तो ये पाकिस्तानी बल्लेबाज साल 2015 से इंटरनेशनल क्रिकेट खेल रहा है। आज पाकिस्तान के कोहली कहे जाने वाले बाबर ने एक खास नाम बना लिया है। पाक के उभरते स्टार ने अब तक वनडे के छोटे से करियर में 17 शतक जड़ डाले हैं। उन्होंने पिछले ही दिनों वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने वनडे करियर का 17वां शतक ठोका। उन्होंने अब तक महज 87 वनडे मैचों की 85 पारी खेली हैं, और वो इतने शतक तक पहुंच गए हैं।

अब सचिन और विराट के करियर के पहले 87 वनडे मैचों के साथ बाबर की तुलना करें तो वो काफी आगे साबित हो रहे हैं।

जहां मास्टर-ब्लास्टर ने अपने पहले 87 वनडे मैचों में 84 पारियों में 34.20 की औसत से केवल 2531 रन बना सके थे। इस दौरान इस महानतम बल्लेबाज ने केवल 2 शतक जड़े थे। इस तरह से पहले 87 वनडे मैचों को देखा जाए तो सचिन बाबर से काफी पीछे नजर आते हैं। लेकिन करियर के खत्म होते-होते सचिन ने 463 वनडे मैच खेले जिसमें उन्होंने 18 हजार से ज्यादा रन बनाएं जिसमें उनके 49 शतक शामिल हैं।

अब एक चर्चा विराट कोहली पर भी कर ली जाए। भारत के इस सेंचुरी किंग ने अपना रूतबा शुरू से दिखाया है। विराट आज वनडे क्रिकेट के बेताज बादशाह माने जाते हैं। उन्होंने अपने करियर में अब तक 260 वनडे मैचों में 58 से भी ज्यादा की औसत के साथ 12311 रन बनाए हैं, जिसमें किंग कोहली के बल्ले से 43 शतक निकले हैं। वहीं कोहली के 87 वनडे तक के करियर को देखा जाए तो उन्होंने करीब 50 की औसत से 84 पारियों में 3688 रन बनाए थे। कोहली 87 मैच तक 12 शतक लगा चुके थे।

भारत के इन दो बेजोड़ वनडे बल्लेबाजों के साथ बाबर आजम का नाम तुलना में इसलिए लिया जा रहा है, क्योंकि बाबर अपने पहले 87 वनडे मैचों में बहुत ही अलग दिखे हैं। उन्होंने अब तक करीब-करीब 60 की औसत से 4364 रन बनाए हैं। इस दौरान इस पाक बल्लेबाज ने 17 शतक जड़ डाले हैं।

पहले 87 वनडे मैचों में तुलनात्मक रूप से बाबर सचिन-कोहली से काफी आगे नजर आ रहे हैं। आजम एक बहुत ही टैलेंटेड खिलाड़ी हैं इसमें कोई दो राय नहीं है। लेकिन विराट और सचिन जैसा कद बनाने के लिए अभी तो बाबर को लंबा रास्ता तय करना है। उन्होंने अब तक 100 वनडे भी नहीं खेले हैं। ऐसे में किंग कोहली और मास्टर सचिन जैसा बनने या उनके आस-पास भी पहुंचने के लिए पाकिस्तान के इस स्टार बल्लेबाज को लगातार बेहतर प्रदर्शन करना होगा।  

Leave a comment

Cancel reply