Cheteshwar Pujara - Ajinkya Rahane
इंग्लैंड के विरुद्ध लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में टीम इंडिया के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे और बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा का बल्ला एक बार फिर खामोश रहा।

इंग्लैंड के विरुद्ध लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में टीम इंडिया के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे और बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा का बल्ला एक बार फिर खामोश रहा। पुजारा ने 9 रन बनाए, जबकि रहाणे मात्र 1 रन बनाकर आउट हो गए। अब पूर्व भारतीय दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने पुजारा और रहाणे के खराब फॉर्म को लेकर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने बताया है कि दोनों खिलाड़ी एक ही गलती को बार-बार दोहरा रहे हैं।

46 साल के पूर्व क्रिकेटर ने ईएसपीएन क्रिकइंफो के साथ बातचीत करते हुए कहा, “बल्लेबाजी में तकनीकी खामी के अलावा रन बनाने की छटपटाहट रहाणे में साफ दिखाई दे रही है। नॉटिंघम टेस्ट की पहली पारी में भी रहाणे बहुत परेशान नज़र आए थे। वे जब तक क्रीज पर रहे तब तक रन बनाने की बैचेनी उनमें साफ नजर आई। आखिरकार वे रन आउट हो गए।”

उन्होंने आगे कहा, “आज (शुक्रवार) भी उनका फुटवर्क बहुत अच्छा नहीं था, जब भी आप अनिर्णय की स्थिति में होते हैं तो आप गेंद पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय नतीजे को देखने की कोशिश कर रहे होते हैं। आप हमेशा गेंद तक पहुंचने की कोशिश करते हैं। रहाणे और पुजारा दोनों निराश होंगे कि वे एक ही गलती दोहरा रहे हैं। बीते 8-10 महीने में वे इसी गलती के कारण आउट हो रहे हैं।”

दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने कहा, “हमने ऑस्ट्रेलिया में रहाणे को इसी तरह से आउट होते देखा है। आज (शुक्रवार) अगर आप रिप्ले को करीब से देखेंगे तो आपको एहसास होगा कि वे गेंद को खेलने में लेट हो गए थे। उनका बायां पैर अभी भी हवा में था। शरीर का वजन ठीक से ट्रांसफर नहीं हुआ। यही वजह रही कि वे बाहर जाती हुई गेंद पर बल्ला लगा बैठे और आउट हो गए।”

वीवीएस लक्ष्मण ने आगे कहा, “मुझे उम्मीद है कि पुजारा और रहाणे यह नहीं सोच रहे होंगे कि बाहर उन्हें लेकर क्या बातें हो रही हैं। स्थापित खिलाड़ियों पर हमेशा अधिक दबाव होता है, क्योंकि युवा आपकी जगह लेने के लिए इंतजार कर रहे हैं। हर कम स्कोर के साथ यह दबाव और बढ़ता जाता है और इन दोनों के साथ भी ऐसा हो रहा है।”

Leave a comment

Cancel reply