ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बाएं हाथ के स्पिनर ब्रैड हॉग ने किंग कोहली के इस फैसले की प्रशंसा की है।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जा रहे आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के पांचवें दिन के खत्म होने में कुछ ही समय शेष पहले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा आउट हो गए थे। ऐसे में कप्तान विराट कोहली खुद बल्लेबाजी करने आ गए और नाइटवॉचमैन नहीं भेजा। कोहली के इस फैसले पर कुछ दिग्गजों ने उनकी तारीफ की है तो कुछ ने कहा कि विराट को खुद नहीं नाइटवॉचमैन को भेजना चाहिए था। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बाएं हाथ के स्पिनर ब्रैड हॉग ने किंग कोहली के इस फैसले की प्रशंसा की है।

हॉग ने अपने यूट्यूब चैनल पर बोलते हुए कहा कि दिन के अंत में रोहित का आउट होना महत्वपूर्ण था, लेकिन उन्होंने कहा कि विराट कोहली ने सलामी बल्लेबाज के आउट होने पर खुद बैटिंग के लिए आकर एक बड़ा संदेश दिया है। पूर्व चाइनामैन गेंदबाज ने कहा, “भारत ने खेल के पांचवें दिन दोनों सलामी बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए। रोहित शर्मा पांचवें दिन का खेल खत्म होने से थोड़ी देर पहले आउट हो गए और न्यूजीलैंड के दृष्टिकोण से यह महत्वपूर्ण विकेट था। मगर एक खास बात जो मुझे अच्छी लगी वह थी कि विराट कोहली नाइटवॉचमैन के लिए नहीं गए और वे खुद बल्लेबाजी करने के लिए आए।”

यह भी पढ़ें | WTC FINAL: ‘मैं पिछले साल की तुलना में काफी बेहतर मानसिक स्थिति में हूं’ -ऋषभ पंत

हॉग ने आगे कहा, “कठिन परिस्थितियों में कोहली खुद बल्लेबाजी करने आए और उन्होंने अपने इस फैसले से न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को संदेश दिया कि वे उनसे डरते नहीं हैं। वे एक बड़ी पारी के लिए खुद को स्थापित करना चाहते हैं।”

डब्ल्यूटीसी फाइनल के पांचवें दिन के खेल खत्म होने तक भारत का स्कोर 2 विकेट के नुकसान पर 64 का था। भारत की दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने क्रमश: 30 और 8 रन बनाए। इस समय चेतेश्वर पुजारा 12 रन और विराट कोहली 8 रन बनाकर क्रीज पर हैं और भारत ने 32 रनों की बढ़ हासिल की है।

वहीं, भारतीय टीम के धाकड़ तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने 4 विकेट लेकर कीवी बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी, जबकि इशांत शर्मा ने 3 विकेट चटकाए, जिसमें कप्तान केन विलियमसन का महत्वपूर्ण विकेट था। इसके अलावा अश्विन ने 2 और जडेजा ने 1 विकेट हासिल करते हुए कीवी टीम को 249 रनों को रोक दिया।