इन दिनों विराट कोहली बड़े-बड़े अजीब-अजीब रिकॉर्ड बना रहे हैं। ऐसे रिकॉर्ड, जिनके लिए उन्हें कभी पहचाना नहीं गया- मसलन बोल्ड होना, 0 के स्कोर, स्टंप होना और सबसे ख़ास ये कि फील्डर के तौर पर वे कैच छोड़ रहे हैं। अपनी बेहतरीन फिटनेस की बदौलत जो विराट कोहली टीम इंडिया के, रवींद्र जडेजा जैसे, सबसे भरोसे के कैच लपकने वाले गिने जाते थे- अब कैच छोड़ रहे हैं। हैं तो वे अभी भी फिट पर फील्डिंग में कैच छूटे हैं।

इंग्लैंड के विरुद्ध टी20 सीरीज के चौथे मैच तक का रिकॉर्ड देखें तो विराट कोहली ने टी20 में 2019 के शुरू से अगर 9 कैच लपके तो 6 गिराए भी। 4+ कैच गिराने वालों की लिस्ट में उनके बाद क्रिस जॉर्डन, स्टीव स्मिथ और यजुवेंद्र चहल का नाम है। ये रिकॉर्ड विराट कोहली जैसे फील्डर को शोभा नहीं देता।

89 टी20 इंटरनेशनल में विराट कोहली ने अब तक 42 कैच लपके हैं और प्रति मैच 0.48 कैच का रिकॉर्ड बड़ा प्रभावशाली है। फील्डिंग के रिकॉर्ड में छोड़े गए कैच का कहीं जिक्र नहीं होता। इस समय वे कैच की गिनती में सुरेश रैना के 42 कैच के भारतीय रिकॉर्ड की बराबरी पर हैं पर रैना ने प्रति मैच 0.54 कैच लपके। कम से कम 30 कैच लपकने वालों में कैच प्रति मैच के रिकॉर्ड में वे 15 वें नंबर पर हैं।

अब तक सिर्फ 12 फील्डर ने 42 या इससे ज्यादा कैच टी 20 इंटरनेशनल में लपके हैं। कोहली ने ये रिकॉर्ड अपने 83 वें मैच में बनाया (अब वे 89 मैच खेल चुके हैं पर कैच की गिनती वही है) – सिर्फ शोएब मलिक (104) ने उनसे ज्यादा मैच लिए 42 कैच लपकने में। इन 12 में से विराट कोहली अकेले ऐसे हैं, जिनकी बल्लेबाज़ी की औसत 50+ है।

इंग्लैंड के विरुद्ध तीसरे टी 20 आई में सबसे चुस्त एथलीट में से एक होने के बावजूद,कोहली ने जब कैच छोड़े तो हर कोई हैरान था। वे तो भागते हुए, हैरान करने वाले कैच लपकने के लिए मशहूर रहे हैं। पिछले साल दिसंबर में, कोहली ने सिडनी में टी 20 इंटरनेशनल में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध मैथ्यू वेड को ऐसे आसान मौके पर छोड़ा कि टीम को सीधे नुकसान हुआ।ऐसे ही तीसरे टी 20 आई में मैच जीतने वाली इनिंग्स खेलने वाले जॉस बटलर का कैच उस समय छोड़ा, जब वे 76 पर थे। गेंदबाज़ थे लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल। अगर ये कैच लपक लिया जाता तो चहल भी गेंद के साथ नाकामयाबी की आलोचना से कुछ तो बचते।

ऐसा नहीं है कि एकदम उनकी फील्डिंग में गिरावट आई है। पिछले साल सितंबर में आईपीएल 2020 के दौरान पंजाब किंग्स (तब किंग्स इलेवन पंजाब) के विरुद्ध एक मैच में, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान कोहली ने केएल राहुल को दो ओवर में दो बार कैच छोड़कर मौका दिया। राहुल ने मौके का पूरा फायदा उठाया और सेंचुरी बना गए।

विराट कोहली की प्रतिष्ठा ऐसी है कि कोई भी इन छोड़े जा रहे कैच को ज्यादा भाव नहीं दे रहा पर इस बात को ऐसा भी नहीं है कि बिलकुल नज़रअंदाज़ कर दें।

Leave a comment